टेलीकॉम इंडस्ट्री का रेवेन्यू पहुंच सकता है 31000 करोड़ तक, बस इंतजार है 2023 का

New Delhi : इंडियन टेलीकॉम इंफ्रास्ट्रकचर रेवेन्यू 2023 आते – आते 21500 से लेकर 31000 करोड़ रुपए तक पहुंच सकता है। इस रेवेन्यू तक पहुंचने के लिए इस सेक्टर में 66000 से लेकर 93000 करोड़ रुपए लगाने पड़ेंगे। अभी भारतीय मार्केट में अपने प्लान से बदलाव लाकर रिलायंस ने उथल पुथल मचा दी है। इस प्लान के चलते लोगों को झटका लगा है वहीं रिलायंस फायदे के नए शिखरों को छूएगा।

नई ऊंचाइयों की ओर।
नई ऊंचाइयों की ओर।

हर तरफ लगे टावर से डाटा के फैलाव में नए अवसर मिल रहे हैं। बढ़ते टावर लोगों तक पहुंच को आसान बना देंगे जिससे कम से कम 215 से 310 बिलियन रुपए की कमाई हो सकती है। भविष्य धीऱे – धीरे टेलीकॉम पर आश्रित होता जा रहा है।

डाटा की बढ़ती डिमांड और 5जी का आना कंपनियों का ध्यान मैक्रो टावर की तरफ शिफ्ट कर रहा है, ताकि वाई फाई और स्मार्ट सिटी जैसे कॉन्सेप्ट आ सकें।

टेलीकॉम इंडस्ट्री घटकर सिर्फ चार मुख्य कंपनियों पर टिक गई है। वहीं दूसरी ओर BSNL और MTNL साथ में झटके खा रही हैं। ऐसे में परफोर्मेंस बेहतर करना एक तरह का लक्ष्य बन चुका है। बड़ी कंपनियां अपने तौर तरीके में बदलाव ला रही हैं। उपभोक्ताओं को नए ऑफर्स के साथ नई सुविधाएं दे रही हैं। ये रेस रेवेन्यू कमाने की ही नहीं बल्कि शिखर तक पहुंचने की है।