तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने कहा – अमीरों का रोग है कोरोना

New Delhi : तमिलनाडु के मुख्यमंत्री Edappadi K. Palaniswami ने कोरोना वायरस संक्रमण को अमीरों का रोग बताया है। उन्होंने इसे एक बड़ी चुनौती बताते हुए कहा कि राज्य इस महामारी को फैलने से रोकने में सफल रहा है, क्योंकि कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में प्रतिदिन कमी आ रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन को तीन मई के बाद हटाने की रणनीति तैयार करने के लिये वित्त सचिव एस कृष्णन की अध्यक्षता में एक समिति गठित की गई है। उन्होंने इस मामले पर आगे कहा कि यह रणनीति चरणबद्ध तरीके वाली हो सकती है। ऐसे में 20 अप्रैल के बाद किन उद्योगों को चलने की इजाजत दी जाए, उस पर चर्चा कर समिति फैसला लेगी।

मुख्यमंत्री ने जिला कलेक्टरों की एक बैठक की अध्यक्षता करने के बाद संवादददाता सम्मेलन में कहा – यह रोग एक बड़ी चुनौती है। यह अमीरों का रोग है। जिन लोगों ने विदेश यात्रा की या अन्य राज्यों की यात्रा की, वे इसे (तमिलनाडु में) लेकर आये। यह यहां पैदा नहीं हुआ।

पलानीस्वामी ने कहा कि गुरुवार को राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के 25 नये मामले सामने आने के साथ कुल मामले बढ़ कर 1267 हो गये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वेंटीलेटर, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) और मास्क के पर्याप्त भंडार हैं। उन्होंने कहा कि राज्य ने तुरंत जांच किट के लिये चीन को जो आर्डर दिया था, उसे किसी अन्य देश को भेज दिया गया और यहां तक कि केंद्र भी मेडिकल सामग्री की खेप का इंतजार कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ sixty three = seventy