हिन्दुओं के लिए गंगा मोक्षदायिनी, तो मुसलमानों को नियामत बांटती गंगा, जानें कैसे जुडी है आस्था

ऐ आबे-रूदे-गंगा तू आबरू-ए-हिंद अस्त। तू जिन्दगी-ए-मास्त तू रूहे-मुल्के हिंद अस्त।। यानी ऐ गंगा का पानी! तू हिन्दुस्तान की इज्जत है। तू हमारी जिन्दगी तो है ही, भारत की आत्मा …

Read More