महाराष्ट्र को 1 दिसंबर को मिल जाएगा नया मुख्यमंत्री, शिवाजी पार्क में होगा शपथ ग्रहण समारोह

New Delhi : महाराष्ट्र में पिछले एक महीने से चल रहे राजनीतिक घमासान देवेन्द्र फडणवीस के इस्तीफे से साथ ही खत्म होता नजर आ रहा है। आज फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद आज मुंबई के होटल ट्राइडेंट में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की संयुक्त बैठक हुई |

शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की संयुक्त बैठक में उद्धव ठाकरे सर्वसम्मति से महाविकास अघाड़ी के नेता चुन लिया गया है। बैठक में एनसीपी नेता जयंत पाटील ने कहा- हम सभी चाहते हैं कि उद्धव बालासाहेब ठाकरे मुख्यमंत्री के रूप में हमारे गठबंधन का नेतृत्व करें। वहीं कांग्रेस के बालासाहेब थोराट ने जयंत पाटील द्वारा दिए गए प्रस्ताव का समर्थन किया, जिसमें उद्धव ठाकरे का नाम मुख्यमंत्री के रूप में प्रस्तावित किया गया था।

आपको बाता दें कि ‘महाविकास अघाडी’ के तीन प्रतिनिधि आज राज्यपाल से मिलेंगे। 1 दिसंबर को मुंबई के शिवाजी पार्क में आयोजित किया जाएगा

इससे पहले देवेन्द्र फडणवीस ने राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोशीयारी को अपना इस्तीफा सौंपा। देवेन्द्र फडणवीस शपथ लेने के मात्र 80 घंटे ही मुख्यमंत्री रहे।

इससे पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में देवेन्द्र फडणवीस ने कहा कि जो भी सरकार बना रहे हैं, उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। उन्होंने आगे कहा कि ये जनादेश राज्य की जनता ने बीजेपी को दिया था। हमने शिवसेना से ढाई साल के सीएम पद देने का कोई वादा नहीं किया था।

मीडिया को संबोधित करते हुए फडणवीस ने कहा कि बीजेपी ने पहले ही कहा था कि हॉर्स ट्रेडिंग नहीं करेंगे। हम पर जो हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाते हैं उन्होंने तो सत्ता के लिए पूरा अस्तबल ही खरीद लेते हैं। उन्होंने आगे कहा कि अजित पवार ने मुझसे मिलकर कहा कि वह इस सरकार में बने नहीं रह सकते और उन्होंने मुझे इस्तीफा दिया। उनके इस्तीफा देने के बाद बहुमत के लिए जितने विधायक BJP को चाहिए उतने हमारे पास नहीं है। इसके बाद मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया।