महाराष्ट्र और हरियाणा में भाजपा को स्थानीय कारणों से मामूली नुकसान हुआ : सुशील

New Delhi: महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के परिणाम पर बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि,’ महाराष्ट्र- हरियाणा में फिर एनडीए सरकार बनने जा रही है। दोनों ही राज्यों में स्थानीय कारणों से हुए मामूली नुकसान के बावजूद भाजपा लगातार दूसरी बार सबसे बड़े दल के रूप में उभरी। यह जनादेश जिन चुनौतियों के साथ मिला है, उसका समाधान करने में केंद्रीय नेतृत्व समर्थ है, लेकिन दोनों में राज्यों में कांग्रेस में हुई सुधार के बाद राहुल गांधी क्यों चुप हैं?

आपको मालूम हो कि हरियाणा चुनाव परिणाम आ चुके हैं लेकिन किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिल पाया है। इसके साथ ही सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी भाजपा ने सरकार बनाने के लिए जोड़-तोड़ करना शुरू कर दिया है। वहीं निर्दलीय विधायक भी बीजेपी को समर्थन देने को लालायित हैं।बीजेपी इन चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। उसे 40 सीटें मिली हैं। वहीं कांग्रेस के हाथ 31 सीटें लगी हैं। लेकिन किसी को बहुमत न मिलने से अब त्रिशंकू की स्थिति बन गई है। सरकार बनाने के लिए किसी भी पार्टी को 46 सीटें चाहिए। इस आंकड़े के सबसे करीब भाजपा ही है। जिसकी तरफ निर्दलीय विधायकों का भी ज्यादा झुकाव है। ऐसे में ये दोनों पार्टियां अब जोड़-तोड़ करने में लग गई हैं, ताकि सरकार बना सकें।

इस स्थिति को देखते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस ने इस बार हरियाणा में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है, और हमारे पास सीटों की एक बड़ी संख्या है। हम पूरी कोशिश करेंगे की इस बार राज्य में एक गैर-भाजपा सरकार बने।