बिहार में ओवैसी की जीत सेक्युलर राजनीति की दुहाई देने वालों के लिए बड़ी चुनौती : सुशील

New Delhi: बिहार में पांच विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव हुए थे। जिसका परिणाम कल आ गया था। किशनगंज सीट से असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) को जीत मिली है। इस पर तीखा तंज कसते हुए उपमुख्यमंत्री गिरिराज सिंह ने शुक्रवार को कहा कि बिहार में इस पार्टी का सेकक्युलर राजनीति करने वालों के लिए चुनौती है।

अपने ट्वीट में सुशील मोदी ने कहा कि ,’ किशनगंज में कट्टरपंथी सोच वाले ओवैसी की पार्टी का जीतना सेक्युलर राजनीति की दुहाई देने वालों के लिए बड़ी चुनौती है। इससे यह भी संदेश मिलता है कि अल्पसंख्यक मतों पर एकाधिकार का राजद-कांग्रेस का दावा खोखला था।

इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री गिरिराज सिंह ने सामाजिक सद्भाव के लिए “खतरा” बताया है। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि ,’ “बिहार के उपचुनाव में सबसे ख़तरनाक परिणाम किशनगंज से उभर के आया है ..ओवैसी की पार्टी AIMIM जिन्ना की सोच वाले है ,यें वंदे मातरम से नफरत करते है ,इनसे बिहार की सामाजिक समरसता को खतरा हैं।बिहार वासियों को अपने भविष्य के बारे में सोचना चाहिए”।