सुशांत के पिता ने CM नीतीश से बात की, कहा- CBI जांच कराइये, मुम्बई पुलिस भरोसे लायक नहीं

New Delhi : सुशांत सिंह राजपूत के पिता के केके सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात की है। उन्होंने नीतीश कुमार से सुशांत मामले की जांच सीबीआई से कराने की अनुशंसा करने की डिमांड की है। दूसरी तरफ बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने महाराष्ट्र पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये हैं। उन्होंने कहा है कि मुम्बई पुलिस ने बिहार पुलिस के साथ सारे काम्युनिकेशन बंद कर लिये हैं। आईपीएस बिनय तिवारी को जबरिया होम क्वारैंटाइन करने के बाद से सारे काम्युनिकेशन बंद किये गये हैं।

चिराग पासवान ने आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से फोन पर बात की। सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीबीआई जांच का अनुरोध किया। लगभग 10 मिनट तक उन्होंने मुख्यमंत्री से बात की। लंबी अवधि के बाद चिराग की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बातचीत हुई है। इस आशय का एक पत्र भी चिराग ने मुख्यमंत्री को लिखा है।

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने चार अगस्त की सुबह समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुये कहा- महाराष्ट्र पुलिस ने सारे काम्युनिकेशन बंद कर लिये हैं। साफ है सबकुछ ठीक नहीं है। महाराष्ट्र पुलिस को बताना चाहिये कि सुशांत केस में पिछले 50 दिनों में क्या किया गया है। महाराष्ट्र पुलिस का रवैया बता रहा है कि कुछ न कुछ गलत हो रहा है।

बता दें आज इससे पहले सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने 3 अगस्त को एक वीडियो संदेश जारी कर मुम्बई पुलिस पर लापरवाही के आरोप लगाये। उन्होंने कहा- 25 फरवरी को मुम्बई पुलिस से शिकायत की थी। इसमें आशंका व्यक्त की थी कि सुशांत के साथ कुछ गलत हो सकता है। उस वक्त मुम्बई पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया। फिर जून में जब बेटा सुशांत नहीं रहा तो पुलिस से कहा कि आप मेरे फरवरी वाले आरोप पर ही कार्रवाई कीजिये। लेकिन ऐसा कुछ नहीं किया गया जिससे एहसास हो कि मुझे न्याय मिलेगा।

फिर मैंने पटना लौटने के बाद राजीव नगर पुलिस में अपनी शिकायत दर्ज कराई और इंसाफ मांगा। मेरी शिकायत पर बिहार पुलिस हरकत में आई। तो मुम्बई पुलिस को सहयोग करना चाहिये। सभी लोगों को इंसाफ दिलाने में बिहार पुलिस की मदद करनी चाहिये। हालांकि मुम्बई पुलिस ने सुशांत के पापा के इस शिकायत को नकार दिया है। मुम्बई पुलिस की तरफ से बताया गया है सुशांत के बहनोई ओपी सिंह ने फोन से शिकायत की थी। मुम्बई जोन 9 के डीसीपी को संदेश भेजा था जिस पर डीसीपी ने साफ कहा था कि लिखित शिकायत देना होगा।। मुम्बई पुलिस को आज तक लिखित शिकायत नहीं मिली है। इधर राजद नेता तेजस्वी यादव ने आज कहा – नीतीश सरकार के ढुलमुल रवैये की वजह से बिहार के पुलिस अफसरों को मुम्बई में अपमान का सामना करना पड़ रहा है।
इस मामले में पटना पुलिस ने सिद्धार्थ पिठानी को नोटिस जारी किया था कि वह सोमवार की सुबह 11 बजे बांद्रा थाने में उपस्थित होकर अपना बयान दर्ज कराये। लेकिन वह समय पर नही पहुंचे। देर रात सिद्धार्थ ने पटना पुलिस को फोन कर बताया कि वह अभी हैदराबाद में है। वह सुशांत के बेहद करीब थे और घटना के दिन वह उनके घर पर ही थे। उसने पुलिस से बताया कि वह जल्द उपस्थित होकर अपना बयान दर्ज करायेगा। बयान देने को तैयार है। दरअसल पटना पुलिस के लिये सिद्धार्थ का बयान अहम है क्योंकि उसे ही सुशांत और रिया से लेकर दिशा सालियान के बारे सबसे अधिक जानकारी है। उसने रविवार की रात भी पुलिस को व्हाट्सअप कॉल किया था।

देर रात उनसे पुलिस से करीब एक घंटे तक फोन और बातचीत की। इस दौरान पुलिस ने उसका बयान मोबाइल में और पेज पर भी नोट किया। सिद्धार्थ को सामने बिठाकर उससे पूछताछ की जायेगी, उसका फिर से बयान दर्ज की किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eighty five + = ninety