EXIT POLL बोल रहे हैं- मोदी सरकार वापिस आएगी… लेकिन बार-बार फेल हुए हैं अनुमान

NEW DELHI: लोकसभा की 542 सीटों पर एग्जिट पोल्स आ चुके हैं। 8 एग्जिट पोल्स में से 6 में एनडीए को स्पष्ट बहुमत मिलने का अनुमान जताया गया है। वहीं, यूपीए को पिछली बार से दोगुनी सीटें मिलने के आसार हैं। पिछली बार एनडीए को 336, यूपीए को 60 और अन्य को 147 सीटें मिली थीं।

लेकिन आंकड़े बताते हैं कि भारत के संदर्भ में ये प्री-पोल सर्वे या एग्जिट पोल बहुत कामयाब नहीं रहे हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलेगा, यह किसी भी सर्वे ने नहीं बताया था। सिर्फ लोकसभा चुनाव ही नहीं, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव परिणाम का आकलन करने में भी सर्वे कामयाब नहीं रहे हैं।

नरेंद्र मोदी की लहर में जब भाजपा अकेले पूर्ण बहुमत (272 सीट) की ओर बढ़ रही थी, एनडीटीवी-हंसा सर्वे में उन्हें 226 सीटें दी जा रही थीं। सर्वे में एनडीए को 275 सीटें मिलने का अनुमान किया गया था। सर्वे में कांग्रेस को 92 तो यूपीए को 111 सीटें मिली थीं। जबकि कांग्रेस इसके आधे से भी कम सीटें यानी केवल 44 पर ही सिमट गई थी।

टाइम्स नाउ-इंडिया टीवी-सी वोटर के सर्वे में बीजेपी को 202, एनडीए को 227 और कांग्रेस को 89 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया था। एक अन्य महत्त्वपूर्ण सर्वे एबीपी-नील्सन ने एनडीए को 236 और यूपीए को 92 सीटें देने की बात कही थी। जबकि चुनाव के बाद परिणाम में भाजपा को अकेले 282 सीटें मिलीं थीं।

यूपी की 17वीं विधानसभा के लिए हुए चुनाव में भाजपा ने अप्रत्याशित सफलता हासिल की थी। 404 विधायकों के निचले सदन में बीजेपी ने 312 सीटों पर जीत दर्ज की थी। सहयोगी दलों के साथ सदन में उसकी ताकत 325 सीटों तक पहुंच गई थी और योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री के रूप में यूपी की सत्ता संभाली। इस चुनाव में समाजवादी पार्टी 47 सीटों पर तो बहुजन समाज पार्टी केवल 19 सीटों पर सिमट गई थी।

इंडिया टीवी के सर्वे में भी बीजेपी को अधिकतम 150 सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया गया था, जबकि उसने सपा और कांग्रेस के गठबंधन को 138 से 162 सीटें मिलने की संभावना व्यक्त की थी। चैनल ने बसपा को 95 से 111 सीटें मिलने की संभावना जताई थी। इंडिया टुडे-एक्सिस के सर्वे में बीजेपी को 208-216, बसपा को 119-138 और सपा-कांग्रेस गठबंधन को 97-104 सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया था।