सुप्रीम कोर्ट ने दिए हैदराबाद एनका’उंटर की जांच के आदेश, 6महीने में सौंपनी होगी रिपोर्ट

New Delhi : हैदराबाद में महिला डॉक्टर से गैंगरे’प और उसकी ह’त्या के आ’रोपियों के एनका’उंटर की न्यायिक जांच होगी। सुप्रीम कोर्ट में आज इस मामले पर सुनवाई हुई।

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की जांच के लिए एक आयोग बनाया है। इस आयोग के अध्यक्ष सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज वीएस सिरपुरकर होंगे। ये आयोग 6 महीने के अंदर सुप्रीम कोर्ट को अपनी रिपोर्ट सौंपेगा।

आयोग के सदस्यों में बॉम्बे हाई कोर्ट की पूर्व जज रेखा बलडोटा और पूर्व सीबीआई चीफ कार्तिकेयन भी सदस्य होंगे। बड़ी बात यह है कि आयोग के सभी सदस्यों को सीआरपीएफ के जवान सुरक्षा प्रदान करेंगे। सुप्रीम कोर्ट में दाखिल तीन याचिकाओं में महिला डॉक्टर से गैंगरे’प और उसकी ह’त्या के चार आ’रोपियों के एनका’उंटर को संदिग्ध बताया गया है।

इससे पहले आज सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबडे ने तेलंगाना सरकारी की ओर से पैरवी कर रहे वकील मुकुल रोहतगी से कई सवाल किए। सुनवाई के दौरान वकील ने बताया कि आ’रोपियों ने पुलिस की पिस्टल छीनकर फा’यर किया।

इसके बाद पुलिस को आत्मरक्षा में गो’ली चलानी पड़ी। इसपर चीफ जस्टिस ने पूछा कि क्या कोई पुलिस वाला घायल नहीं हुआ? वकील ने कहा दो पुलिसवाले घायल हुए। लेकिन गो’ली से नहीं बल्कि पत्थरों से। हर आ’रोपी के पास पि’स्टल नहीं थी।