सुप्रीम कोर्ट ने खा’रिज की पी.चिदंबरम की अग्रिम जमा’नत याचिका

सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस नेता पी चिदंबरम द्वारा दिल्ली उच्च न्यायालय के आदेश के खि’लाफ दायर अपील को खा’रिज कर दिया है। चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली हाई कोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी जिसमें उनकी अग्रिम जमा’नत याचिका को खा’रिज कर दिया गया था। 

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम की INX मीडिया मनी-लॉ’न्ड्रिं’ग और भ्रष्टाचार के मामलों में आ’रोपी हैं।यह मामला सीबीआई द्वारा देखा जा रहा है।

जस्टिस आर. भानुमति की अध्यक्षता वाली पीठ चिदंबरम की याचिका पर भी सुनवाई की। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने अपने खिलाफ जारी गि’रफ्ता’री वा’रंट और निचली अदालत द्वारा आइएनएक्स मीडिया भ्र’ष्टा’चार मामले में सोमवार तक सीबीआइ की हि’रास’त में सौंपे जाने को चुनौती दी थी।

शीर्ष अदालत ने शुक्रवार को चिदंबरम को प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दायर मनी-लॉ’न्ड्रिं’ग मामले में गिरफ्तारी से सोमवार तक सुरक्षा दी थी।

अदालत ने चिदंबरम की याचिका पर जांच एजेंसी से जवाब मांगा है और निर्देश दिया है कि तीनों मामलों को आज सूचीबद्ध किया जाए।

चिदंबरम ने अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ यह तर्क दिया कि है ये संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत उनके मौलिक अधिकार का उ’ल्लं’घन है, उच्च न्यायालय के आदेश को चुनौती देने वाली उनकी याचिका पर शीर्ष अदालत द्वारा 20 और 21 जुलाई को सुनवाई नहीं की गई थी और उन्हें 21 अगस्त की रात को गिर’फ्ता’र किया गया था। उन्होंने इस मामले में अपनी संलिप्तता से इंकार किया है। सीबीआइ ने ए’फआइ’आर 15 मई 2017 को दर्ज की थी और उसके बाद उसी साल ईडी ने मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज किया था।

kaushlendra

सामाजिक और राजनीतिक विषयों पर लिखने में दिलचस्पी है।गांधी जी का फैन हूँ।समाज में जागरुकता लाना उद्देश्य है।पत्रकारिता मेरा प्रोफेशन है,जुनून है और प्यार भी है।
kaushlendra