चुनाव आयोग से सुप्रीम कोर्ट बोला-मोदी बायोपिक देखने के बाद ही करें रोक लगाने का निर्णय

New Delhi: PM मोदी की बायोपिक पिछले काफी समय से चर्चा में बनी हुई है। एक तरफ देश में सियासी हलचल देखने को मिल रही है। वहीं पीएम पर बनी यह फिल्म भी काफी सुर्ख़ियों में है। फिल्म की रिलीज पर रोक लगाई गई थी, जिसके बाद अब एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट ने बयान जारी कर चुनाव आयोग से फिल्म देखने को कहा है।

आपको बता दें कि, पिछले काफी समय से मोदी की बायोपिक की रिलीज लगातार टल रही है। इस कड़ी में अब सुप्रीम कोर्ट ने फिर आदेश जारी कर फिल्म पर बैन लगाने से पहले बात करने को कहा है।

बैन लगाने से पहले फिल्म देखे चुनाव आयोग

देश में एक तरफ सियासी घमासान मचा हुआ है, वहीं प्रधानमंत्री मोदी की बायोपिक भी जबरदस्त चर्चा में बनी हुई है। फिल्म पहले 5 अप्रैल को रिलीज होनी थी, जिसके बाद फिल्म की रिलीज डेट आगे बढ़ा दी गई। पहले चरण के मतदान वाले दिन फिल्म की रिलीज डेट तय की गई थी, लेकिन विवाद के चलते फिर इसकी डेट आगे बढ़ानी पड़ी। दूसरी तरफ कांग्रेस लगातार फिल्म को बैन करने की बात कर रही है। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट की स्पेशल बेंच ने इस विवाद पर बात करते हुए कहा है कि, चुनाव आयोग इस विवाद पर कोई भी निर्णाय लेने से पहले एक बारन फिल्म जरूर देखें।

कांग्रेस कर चुकी है फिल्म पर रोक लगाने की मांग

मोदी बायोपिक को लेकर पिछले काफी समय से सियासी घमासान मचा हुआ है। वहीं कांग्रेस फिल्म को चुनाव के बीच में रिलीज न किये जाने की मांग करती रही है। जाहिर है कांग्रेस के अलावा कई विपक्षी नेता इस फिल्म को “चुनाव प्रचार” के रूप में पेश किये जाने और राजनीति करने का आरोप लगा रहे यहीं। गौरतलब है इस फिल्म में मोदी के बचपन के संगर्ष से लेकर पीएम बनने तक की कहानी को दिखाया गया है। हालांकि अभी यह तो कहानी के हिसाब से चर्चाएं चल रही हैं, लेकिन असल में फिल्म में क्या है यह तो देखने के बाद ही मालुम चलेगा।

Input : ANI