‘राजस्थान CM’ के लिए सचिन पायलट का नाम पीछे, गुस्साए समर्थकों ने करौली सड़क किया जाम

New Delhi: राजस्थान में सीएम के नाम के ऐलान को लेकर लगातार घमासान जारी है। इस बीच खबर आई कि अशोक गहलोत और सचिन पायलट को दिल्ली में ही रोक लिया गया हैं। मुख्यमंत्री के पद पर दोनों उम्मीवार सचिन पायलट और अशोक गहलोत के नामों में से किसी एक नाम पर सहमति नहीं बन पा रही हैं। वहीं जब मीडिया वालों ने सचिन पायलट से इस बारे में सवाल किया तो वह कुछ कहे कार में बैठकर निकल गए। सूत्रों की मानें तो राहुल गांधी अशोक गहलोत को सीएम बनाये जाने पर मुहर लगा सकते हैं।

मुख्यमंत्री के नाम के ऐलान में हो रही देरी को लेकर समर्थक नाराज हैं। जिसके चलते कांग्रेस नेता सचिन पायलट के समर्थकों ने राजस्थान के करौली में सड़क जाम कर दिया और पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग करते रहे। इससे पहले समर्थकों ने नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी यानी AICC मुख्यालय के बाहर खड़े होकर पायलट को राजस्थान का मुख्यमंत्री चुने जाने को लेकर नारे लगाए।

Tamradhwaj Sahu

वहीं राजस्थान के निर्दलीय विधायक राजकुमार गौर का कहना है कि अशोक गहलोत दो बार राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में सेवाएं दे चुके हैं, उन्हें तजुर्बा है, राजस्थान की जनता और सभी निर्दलीय विधायक चाहते हैं कि उन्हें मुख्मयंत्री नियुक्त किया जाए। इनके अलावा, राज्य के एक अन्य निर्दलीय विधायक महादेव सिंह खंडेला ने भी कहा है कि राजस्थान की जनता मुख्यमंत्री के रूप में अशोक गहलोत को चाहती है, मेरी भी यही इच्छा है और मेरा मानना है कि कांग्रेस हाईकमान भी यही फैसला करेगा।

सीएम पद को लेकर राजस्थान में दो बड़े नाम शामिल हैं। एक तरफ सचिन पायलट के नाम को लेकर सीएम की दावेदारी तय मानी जा रही है। चर्चा है कि कांग्रेस आलाकमान सचिन पायलट और अशोक गहलोत में से किसी एक का चुनाव करने में दुविधा का सामना कर रही है। बताया जा रहा है कि राहुल गांधी सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाए जाने के पक्ष में हैं लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का समर्थन अशोक गहलोत के साथ है। ऐसे में पार्टी के सामने सीएम के नाम को लेकर सस्पेंस बरक़रार है। लेकिन आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इसपर एलान कर सकते हैं। दोनों नेताओं को दिल्ली बुलाया गया है।