अनंत कुमार के निधन पर सुमित्रा महाजन ने जताया दुख, संसद चलाने में अनंत कुमार पर रहती थी निर्भर

New Delhi: लंबे वक्त से बीमार चल रहे बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री Ananth Kumar दुनिया से अलविदा कह गए। बता दें कि केंद्रीय मंत्री Ananth Kumar कैंसर से पीड़ित थे और उनका पिछले काफी वक्त से इलाज चल रहा था। 59 साल के Ananth Kumar पहले लंदन और न्यूयार्क में इलाज करा चुके थे। इसके बाद उन्हें कुछ दिनों पहले बेंगुलरु के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने आज यानि सोमवार को 1 बजकर 50 मिनट पर अंतिम सांस ली।

वहीं अब केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार के पार्थिव शरीर को पूरे सम्मान के साथ तिरंगे से लपेटा गया है और अब उनके पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार कल शाम को किया जाएगा। इसी बीच इस दुखद खबर सुन राजनीति गलियारों मे शोक की लहर दौड़ गई हैं। पीएम मोदी ने शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया और कहा कि एक सहयोगी और दोस्त के निधन से काफी दुखी हूं। अनंत कुमार के परिवार और समर्थकों के लिए मेरी संवेदनाएं। उन्होंने कर्नाटक में पार्टी को मजबूत किया।

वहीं लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि मेरे लिए यह व्यक्तिगत नुकसान है। मैं संसद को सुचारू रूप से चलाने के लिए उन पर काफी हद तक निर्भर थी। वहीं बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने भी दिल्ली स्थित पार्टी के मुख्यालय में अनंत कुमार की फोटो पर फूल अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इसके अलावा रक्षा मंत्री निर्मला सीतारण ने कहा कि Ananth Kumar से जुड़ी खबर सुनकर काफी दुख हुआ। उन्होंने लंबा समय भारतीय जनता पार्टी को दिया। बेंगुलरु उनके दिल और दिमाग में बसता था और भगवान इस क्षति को सहने की शक्ति उनके परिवार को दे।

जानकारी के लिए आपको बता दें,  Ananth Kuma का जन्म 22 जुलाई 1959 को हुआ था और वे साल 1996 में बेंगुलरू साउथ लोकसभा सीट से सांसद बने थे। वहीं अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत से पहले वे एक छात्र नेता और इसके बाद राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ से जुड़े। इसके अलावा वे केंद्र सरकार में संसदीय कार्यमंत्री भी थे।