J&K: क्लास आने में हुई देरी तो शिक्षक ने कर दी बर’हमी से पि’टाई, अब होगी कार्र’वाई

New Delhi: जम्मू के डोडा में एक छात्रवास के शिक्षक द्वारा छात्रों की पि’टाई का वीडियो कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था। वीडियो वायरल होने के बाद चाइल्डलाइन के अधिकारी मा’मले की जांच के लिए छात्रावास पहुंचे।

Gujjar Bakerwal Boys Hostel में हुई घ’टना के वीडियो में देखा गया कि स्कूल का एक शिक्षक कक्षा 6, 7, 8 और 10 के छात्रों को कक्षा 10 मीनट देर से आने के लिए पि’टाई कर रहा था।

AN-32 रिकवरी ऑपरेशन: दुर्घट’नास्थल से सभी श’वों को किया गया बरामद

Childline coordinator Minaskhi Raina ने कहा, “वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद, हम छात्रवास के अधिकारियों और छात्रों के साथ इस मामले की जांच करने गए। पूछताछ के दौरान, शिक्षक ने अप’राध को कबूल कर लिया। इस मामले के बारे में और पूछताछ जारी है। अमा’नवीय कृ’त्य के लिए शिक्षक के खि’लाफ स’ख्त कार्र’वाई करने का आश्वासन दिया है। ”
उन्होंने कहा कि अगर छात्रवास के अधिकारी दो दिनों के भीतर रिपोर्ट देने में वि’फल रहते हैं, तो का’नून के अनुसार शिक्षक के खि’लाफ प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

उन्होंने आगे कहा कि स’ख्त रवैया अपनाकर बच्चों को समय पर आने के लिए शिक्षकों को शारीरिक दं’ड के बजाय कोई और उपाय अपनाने चाहिए।

“आजकल शारीरिक दं’ड दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे हैं, पिछले साल इस संबंध में कई मा’मले सामने आए हैं क्योंकि महिला और बाल विकास मंत्रालय ने एक नया दिशानिर्देश जारी किया है जो छात्रों की शारीरिक स’जा पर प्र’तिबंध लगाता है। शिक्षक दो’षी पाए जाते हैं तो उनकी पदोन्नति और यहां तक ​​कि वेतन वृद्धि पर रो’क लगा दी जाती है। सभी स्कूलों में एक Child Rights Cell स्थापित किया जाना चाहिए, जहां बच्चे शिका’यत द’र्ज कर सकें।”