उत्तराखंड : मलबे के कारण सड़कें हुई जाम, जान ख’तरे में डालकर स्कूल जा रहे हैं बच्चे

New delhi : उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में भ’यंकर बारिश के कारण 130 सड़के बंद हो गई हैं। जिसके कारण पहाडियों पर रहने वाले परिवार वालों को बहुत समस्या का सामना करना पड़ रहा है। खासकर स्कूली बच्चों को बहुत जो’खिम उठाना पड़ रहा है। बच्चे हर रोज जान की परवाह किए बगैर ऊंचे -नीचे पहाड़ी रास्तों से स्कूल पढ़ने जा रहे हैं।

ग्रामीणों ने प्रशासन से जल्द से जल्द सड़कों को दुरुस्त कराने की मांग की है। वहीं उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में एंबुलेंस सड़क पर फैले मलबे में फंस गई जिससे एंबुलेंस में ही प्रसव कराना पड़ गया। गढ़वाल के चमोली जिले में भी रुक-रुककर बारिश हो रही है। जिसके कारण ग्रामीणों को कई किलोमीटर तक पैदल जाना पड़ रहा है।

बता दे कि उत्तराखंड में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से 130 सड़कें मलबे से भर गई। जिसे हटाने का काम प्रशासन की तरफ से किया जा रहा है। सड़क जाम होने के कारण जन-जीवन अस्त -व्यस्त हो गया है। यही नहीं इसके कारण एक सीआईएसएफ के एक जवान की मौ’त भी हो गई। जवान जिसका नाम पंकज था बिहार का रहने वाला था।

जानकारी के मुताबिक वह उसकी पोस्टिंग धारचूला पॉवर हाउस में थी। बुधवार की सुबह वह अपने तीन साथियों के साथ दोबाट से पॉवर हाउस की तरफ जा रहा था कि उससे 200 मीटर पहले ही पहाड़ी से पत्थर गिर गया जिससे उसकी मौ’त हो गई। अधिकारियों ने बताया कि 39 प्रमुख रास्तों को खोल दिया गया है जबकि 90 से अधिक रास्तों को अभी भी नहीं खोला जा सका है।