जाधवपुर यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में छात्रा ने डिग्री लेते समय नागरिकता कानून की प्रति फाड़ी

New Delhi : पश्चिम बंगाल की जाधवपुर यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में मंगलवार को एमए की डिग्री लेने के बाद एक छात्रा ने नागरिकता कानून (सीएए) की प्रति फाड़ दी। इंटरनेशनल रिलेशन की छात्रा देबोस्मिता चौधरी ने कहा- यह मेरा विरोध करने का तरीका है। मैंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि संशोधित नागरिकता कानून देश के सच्चे नागरिक को अपनी नागरिकता साबित करने के लिए बाध्य करता है।

सीएए की प्रति फाड़ने के दौरान कुलपति, उपकुलपति और रजिस्ट्रार भी मौजूद थे। छात्रा ने कहा- हम कागज नहीं दिखाएंगे। इंकलाब जिंदाबाद। प्रति फाड़कर मैं यूनिवर्सिटी का अनादर नहीं कर रही हूं। अपने पसंदीदा संस्थान से डिग्री लेकर मैं बेहद सम्मानित महसूस कर रही हूं। मैंने सीएए के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने के लिए ऐसा किया। न्यूज एजेंसी ने छात्र ए.दास के हवाले से कहा- उनके बैच के करीब 25 छात्र अपनी डिग्री लेने के लिए मंच पर नहीं गए।

छात्रों ने मंगलवार को जाधवपुर यूनिवर्सिटी में राज्यपाल जगदीप धनखड़ के काफिले का घेराव किया। वे मंगलवार सुबह दीक्षांत समारोह में शामिल होने के लिए विश्वविद्यालय पहुंचे थे। लेकिन छात्रों ने उन्हें आगे नहीं बढ़ने दिया। छात्रों ने राज्यपाल के खिलाफ नारेबाजी की और काले झंडे दिखाए। छात्रों का आरोप है कि धनखड़ भाजपा नेताओं की तरह सीएए का समर्थन कर रहे हैं। राजभवन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का कार्यालय बन चुका है। वे (छात्र) नहीं चाहते हैं कि राज्यपाल जाधवपुर विश्वविद्यालय के पदेन कुलपति रहे।