बंगाल में ब’वाल: हड़’ताली डॉक्टर्स मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से आज करेंगे मुलाकात

New Delhi: पश्चिम बंगाल में हड़’ताली Doctors आज मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात करेंगे।

डॉक्टरों और राज्य सरकार के बीच सप्ताह भर के गति’रोध को समाप्त करने के लिए यह बैठक कोलकाता में राज्य सचिवालय Nabanna में दोपहर 3 बजे होगी।

बिहार में इंसेफेलाइटिस की वजह से मौ’त का आंकड़ा पहुंचा 93, डॉ हर्षवर्धन ने दिया मदद का आश्वासन

कोलकाता के NRS Medical College and Hospital में एक मरीज के परिजनों द्वारा उनके दो सहयोगियों पर ह’मला करने और गं’भीर रूप से घायल होने के बाद पश्चिम बंगाल के डॉक्टर एक सप्ताह से हड़’ताल पर हैं।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने आंदो’लनकारी डॉक्टरों के साथ एकजुटता व्यक्त करने के लिए आज देशव्यापी हड़’ताल का ऐलान किया है। IMA के अनुसार, 3.5 लाख डॉक्टरों के हड़’ताल में भाग लेने की उम्मीद है, जिससे आज देश भर में गैर-जरूरी स्वास्थ्य सेवाओं को प्रभा’वित करने की संभावना है।

ओपीडी सहित सभी गैर-जरूरी सेवाओं को आज सुबह 6 बजे से 24 घंटे के लिए बं’द कर दिया गया है, जबकि आपा’तकालीन और कार्य-कारण सेवाएं काम करती रहेंगी। IMA, देश में डॉक्टरों के शीर्ष निकाय, ने अस्पतालों में स्वास्थ्य देखभाल श्रमिकों के खिलाफ हिं’सा की जांच के लिए एक केंद्रीय कानून की अपनी मांग रखी है।

बंगाल में जारी ह’ड़ताल के समर्थन में देश भर के Doctors Strike पर हैं। इसमें एक नया मोड़ सामने आया है। एक तरफ AIIMS दिल्ली रेजिडेंट डॉक्टर्स ने अपनी ह’ड़ताल वापस ले ली है वहीँ दूसरी और IMA त्रिपुरा यूनिट ने ह’ड़ताल का ऐलान किया है।

बंगाल सहित देश भर के Doctors Strike कर रहे हैं । उनका ये आंदो’लन खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। बंगाल से शुरू हुई इस ह’ड़ताल को देशभर के डॉक्टर्स का समर्थन मिल रहा है। इसी बीच अब त्रिपुरा डॉक्टर्स ने भी ह’ड़ताल का ऐलान कर दिया है। IMA त्रिपुरा यूनिट के जनरल सेक्रेटरी डॉ. एस देबबर्मा ने इसकी जानकारी दी है।

दूसरी ओर दिल्ली AIIMS में डॉक्टर्स ने ह’ड़ताल वापस ले ली है। इससे दिल्ली के लोगों को राहत मिलेगी। AIIMS डॉक्टर्स ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि बंगाल सरकार डॉक्टर्स की मांगो को मान लेगी और जल्दी कोई फैसला सुनाएगी ।’ इसके साथ ही डॉक्टर्स ने यह भी कहा है कि हम 17 जून को होने वाली IMA की राष्ट्रव्यापी ह’ड़ताल के दौरान प्र’दर्शन करेंगे उसके बाद काम पर लौट जाएंगे। हम मरीजों को परेशान नहीं करना चाहते इसलिए हम ह’ड़ताल वापस ले रहे हैं पर अगर यही स्तिथि रही तो हम फिर वि’रोध करेंगे।