अयोध्या में 14 साल से जारी रामलीला का मंचन रोका गया

New Delhi : रविवार सुबह 7 बजे से देशभर में जनता कर्फ्यू की शुरुआत हो गई। PM Narendra Modi ने देशवासियों से सुबह 7 बजे से रात 9 बजे के बीच घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। रविवार सुबह उन्होंने दोबारा ट्वीट किया कि सभी नागरिक इसदेशव्यापी अभियान का हिस्सा बनें और कोरोना के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाएं। इधर मद्रासमायलापुर के आर्कबिशप जॉर्ज एंथनी स्वामी ने लोगों से अपील की कि चर्च आएं, यूट्यूब के जरिए ही प्रेयर करेंगे।

कोरोना अलर्ट और कर्फ्यू के कारण अयोध्या में 14 साल से जारी रामलीला का मंचन रोका गया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगीआदित्यनाथ गोरखपुर में हैं, वे यहीं से अधिकारियों को निर्देश दे रहे हैं। शाम 5 बजे गोरखधाम मंदिर से घंटी बजाकर हौंसला बढ़ाएंगे।योगी ने कहा है कि संयम, सजगता, जागरुकता से महामारी के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाएं। कोरोना हारेगाभारत जीतेगा। प्रदेशमें कोरोनावायरस के 27 केस सामने आए हैं। इनमें से 11 ठीक हो चुके हैं। हमें आगे भी कर्फ्यू के लिए तैयार रहना होगा।

जनता कर्फ्यू के दौरान रविवार सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक उत्तर प्रदेश में मेट्रो रेल, रोडवेज बसें और सिटी ट्रांसपोर्ट सेवाएं पूरी तरहबंद हैं। पेट्रोल पंप भी सुबह 7 से रात 9 बजे तक बंद रहेंगे। हालांकि, इमरजेंसी सेवाओं से जुड़े लोगों को फ्यूल भराने की छूट रहेगी।राजधानी लखनऊ के हजरतगंज और गोमती नगर में दुकानें बंद हैं। राजधानी के 57 प्रमुख चौराहों पर पुलिसबल तैनात है। पुलिस जगहजगह लोगों को कोरोना से जुड़े जरूरी निर्देश दे रही है। वाराणसी, मेरठ और आगरा में भी सड़कों पर सन्नाटा पसरा है।

इधर बिहार में मुंगेर के रहनेवाले 38 वर्षीय सैफ अली की मौत कोरोना से हो गई है। वे 20 मार्च को पटना के एम्स हॉस्पिटल में भर्ती हुएथे। वे कतर से इंडिया आये थे।मुंबई में शनिवार रात 63 साल के एक मरीज की मौत हो गई। उन्हें पहले से ही डायबिटीज, हाई ब्लडप्रेशर और दिल की बीमारी थी। इसके बाद रविवार को पटना में 38 साल के सैफ अली की मौत हो गई। सैफ डायबिटीज का मरीज था, उसकी किडनी भी खराब थी। देश में अब तक कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 6 हो गई है।

इससे पहले 17 मार्च को मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में 64 साल के एक बुजुर्ग की मौत हो गई थी। 1 मार्च को पुणे के पतिपत्नी औरउनकी बेटी दुबई से मुंबई लौटे थे। मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उन्होंने पुणे के लिए टैक्सी बुक की थी। पतिपत्नी और उनकी बेटी बादमें कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए। बाद में उस उसी टैक्सी में ट्रेवल करने वाले 2 और लोग और ड्राइवर भी संक्रमित हो गए।

दूसरी ओर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्द्र सिंह ने 31 मार्च तक पंजाब के लॉकडाउन की घोषणा की है। इस तरह राजस्थान के बादपंजाब दूसरा राज्य है जिसने लॉकडाउन किया है।

देशभर में सभी यात्री ट्रेनें 31 मार्च तक नहीं चलेंगी। गोएयर की सभी और इंडिगो की 40% उड़ानें रद्द। सभी शॉपिंग मॉल्स बंद रहेंगे, दुकानें भी नहीं खुलेंगी। धार्मिक स्थल भी बंद रहेंगे, गोवा की चर्च में संडे प्रेयर भी नहीं होगी।

जनता कर्फ्यू के दौरान श्रीनगर और बेंगलुरु जैसे शहरों में हालात वैसे ही होंगे, जैसे कर्फ्यू लगने पर होते हैं। प्रशासन की तरफ से इसतरह के बयान भी सामने आए हैं। कश्मीर में हिंसक घटनाओं का इतिहास होने की वजह से बंदिशें लगाने का फैसला किया गया है। वहीं, बेंगलुरु पुलिस ने बेवजह घर से बाहर निकलने पर कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। हालांकि, दिल्ली पुलिस ने कहा है कि हम किसीतरह की सख्ती नहीं बरतेंगे, ही कोई जुर्माना लगाएंगे।

कश्मीर के इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस विजय कुमार ने कहा कि जनता कर्फ्यू की अपील की गई है, लेकिन कश्मीर में लोगों कीआवाजाही और एक जगह जरूरत से ज्यादा लोगों के इकट्‌ठा होने पर पाबंदियां लगेंगी। इन पाबंदियों को सख्ती से अमल में लाने केलिए एक्स्ट्रा पुलिस फोर्स की तैनाती होगी। हम लोगों से सहयोग की अपील कर रहे हैं। कुमार ने कहाइसे भले ही जनता कर्फ्यू नामदिया गया है, लेकिन कश्मीर का इतिहास ऐसा रहा है कि पुलिस या सुरक्षा बलों की तैनाती के बिना हम बंदिशों को अमल में नहीं लासकते।

दिल्ली पुलिस ने कहा कि रविवार को जनता कर्फ्यू लागू करने के लिए सख्ती या जुर्माना लगाने का कोई आधिकारिक ऐलान नहीं कियागया है। इस तरह की बातें पूरी तरह से अफवाह हैं। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक मैसेज में दिल्ली पुलिस के हवाले से बतायागया था कि रविवार को दिल्ली में अगर कोई व्यक्ति बिना किसी बड़ी वजह के घूमता मिला, दुकान खोलता हुआ मिला तो उस पर 11 हजार रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। दिल्ली पुलिस ने इस मैसेज को फर्जी करार दिया है।

इधर शाहीन बाग में इस सबके बीच धरना जारी है। शाहीन बाग के एक गुट का कहना है कि वो कोरोना वायरस से लड़ने में पीएम मोदीकी मुहिम का समर्थन करेंगे तो वहीं दूसरे गुट का कहना है कि कुछ भी हो जाए हम सड़क पर ही डटे रहेंगे।

शनिवार को इसी वजह से दोनों गुटों में लड़ाईझगड़ा भी हुआ था। हालांकि बाद में दोनों गुटों को समझाबुझाकर मामला शांत करलिया गया।

इससे पहले दिल्ली पुलिस ने शनिवार को इंडिया इस्लामिक सेंटर में शाहीनबाग के प्रदर्शनकारियों के साथ मिलकर बैठक की थी. यहांपर दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए लोगों से प्रदर्शन खत्म करने की अपील की थी. इस बैठक में डीसीपीसाउथ ईस्ट समेत दिल्ली पुलिस के कई सीनियर ऑफिसर भी मौजूद थे. पर धरना आज भी जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

forty + = fifty