लालू-राबड़ी के शासन के लिये बेटे तेजस्वी ने मांगी माफी, कहा- हम गलतियों की माफी मांगते हैं

New Delhi : बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने लालू-राबड़ी के 15 साल की सत्ता के दौरान हुई किसी भी भूल के लिए माफी मांगी है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि हमलोग 15 साल सत्ता में रहे, पर हम तब सरकार में नहीं थे और छोटे थे। अगर उन 15 साल की सरकार में हमसे कोई भूल हुई हो तो हम उसके लिए भी माफी मांगते हैं।

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि हमारी उस सरकार के दौरान इस बात से कोई इनकार नहीं कर सकता कि लालू जी ने सामाजिक न्याय नहीं किया। तेजस्वी ने कहा कि लालू जी ने कभी भी सामाजिक न्याय और देश के नाम पर कभी समझौता नहीं किया। उन्होंने पिछड़े और गरीब वर्ग से आए लोगों को प्रतिनिधित्व का मौका दिया। हमारी पार्टी सबके लिए है। हम सबको सम्मान देंगे और जात-पात से ऊपर उठकर काम करेंगे।
तेजस्वी ने कहा कि अगर बिहार की जनता उन्हें एक मौका देगी तो वे राज्य में विकास की गंगा बहा देंगे। हम सभी को रोजगार देंगे और हर घर में खुशहाली लाने की कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा कि जब बिहार की जनता कोरोना काल में परेशान थी तब बीजेपी वर्चुअल रैली कर के करोड़ों रुपए बहा रही थी। उसे जनता की चिंता नहीं बल्कि अपने कुर्सी की चिंता है।
नीतीश राज में भ्रष्टाचारियों का बोलबाला है। साथ ही साथ यह भी कहा कि राज्य में बेरोजगारी अपने चरम पर है। बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर भी लौटे हैं, लेकिन बिहार में पहले से ही 5-6 करोड़ लोग बेरोजगार हैं। कोरोना लॉकडाउन के दौरान बिहार में लगभग 30 लाख से भी ज्यादा लोग वापस आए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने नीतीश कुमार को कहा है कि ये आपकी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि आप सब लोगों को रोजगार दें और जल्द ही इन 30 लाख लोगों को भी रोजगार उपलब्ध करवाएं। बिहार में तो पहले से ही 5-6 करोड़ लोग बेरोजगार हैं।
बिहार सरकार में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार का राज भ्रष्टाचारियों का राज है। यहां सिर्फ भ्रष्टाचारियों का बोल बाला है। जाति प्रमाण पत्र या डेथ सर्टिफिकेट बनवाना हो या किसी योजना का लाभ उठाना हो तो नीतीश जी के राज में बिना घूस या कमीशन के पूरा नहीं हो पाता है। तेजस्वी यादव ने कहा कि सारा कारखाना बंद हो गया है। सिर्फ और सिर्फ अमीरों का विकास हो रहा है। राज्य में सिर्फ भ्रष्टाचारियों का बोलबाला है। 15 साल के इस सरकार में 55 घोटाले हुए हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifty two − = 50