अभी तक राजनाथ सिंह, आचार्य प्रमोद कृष्णम सहित 16 प्रत्याशियों ने नहीं दिया है चुनावी खर्च का ब्योरा

New Delhi:  लोकसभा चुनाव हो चुके हैं और इन चुनावों को जीतने के लिए उम्मीदवारों ने काफी मेहनत भी की है। इसके अलावा सभी प्रत्याशियों ने  ने बहुत पैसा भी खर्च किया है। जीत हासिल करने वाले सभी प्रत्याशी अब संसद में शपथ भी ले चुके हैं। लगभग सभी सांसदों और चुनाव मैदान में उतरे सभी प्रत्याशियों ने अपने चुनावी खर्च का विवरण आय व्यय कमेटी के समक्ष पेश कर दिया है लेकिन कुछ अभी भी कुछ बड़े नाम ऐसे हैं जिन्होंने अपने खर्च का ब्योरा नहीं दिया है।

इनमें लखनऊ सीट से सांसद राजनाथ सिंह, सपा की पूनम शत्रुघ्न सिन्हा व कांग्रेस के आचार्य प्रमोद कृष्णम सहित लखनऊ व मोहनलालगंज सीट से जुटे 16 प्रत्याशी शामिल हैं। गौरतलब है कि लखनऊ व मोहनलालगंज सीट के सभी प्रत्याशियों को यह निर्दश दिया गया था कि वह 19 जून तक अपने चुनावी खर्च का ब्योरा आय व्यय कमेटी के समक्ष प्रस्तुत करें।

लेकिन इन प्रत्याशियों ने आयोग की बात को नजरअंदाज कर दिया। अभी फिलहाल आयोग ने इन प्रत्याशियों को आयोग ने थोड़ी मोहलत दे दी है। आयोग ने 22 जून तक खर्च का विवरण प्रस्तुत करने का समय दिया है। अगर इस समय के अंदर भी खर्च नहीं बताया गया तो आयोग उन पर  कार्रवाई करने के लिए नोटिस जारी करेगा।

आय व्यय कमेटी के अधिकारियों ने यह जानकारी दी कि अभी तक लखनऊ सीट से चुनावी मैदान में उतरे 15 सदस्यों में से केवल नौ लोगों ने और मोहनलालगंज सीट के 12 प्रत्याशियों में केवल दो लोगों ने ही अपने चुनावी खर्च का ब्योरा दिया है। बता दें कि अगर प्रत्याशियों ने तय समयसीमा के अंदर खर्च का ब्योरा दे दिया है और उन्हें डिफाल्टर घोषित किया जाता है तो इनके खिलाफ आदर्श आचार संहिता के तहत तीन साल तक किसी भी चुनाव को लड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है।

चुनाव में 86 लाख खर्च करके फंसे सनी देओल.. लोकसभा सदस्यता पर संकट के बादल,नोटिस भेज सकता है EC