सीताराम येचुरी ने पूछा- क्या अमेरिका के आर्थिक ह’मले का घर में घुसकर जवाब देंगे मोदी

New Delhi: सीपीएम के वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की जीएसपी खत्म करने की ध’मकी को लेकर मोदी सरकार से बड़ा सवाल पूछा है।

दरअसल अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ध’मकी दी है कि अगर भारत अमेरिकी उत्पादों पर टैरिफ नहीं घटाता है तो जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंसेस यानी जीएसपी को खत्म कर दिया जाएगा। इसी मुद्दे पर सरकार को घेरते हुए सीताराम येचुरी ने कहा कि क्या मोदी सरकार अमेरिका के इस आर्थिक ह’मले का जवाब घर में घुसकर देगी।

बालाकोट की एयर स्ट्राइक के बाद सरकार की तरफ से विपक्ष को देश’द्रोही बताए जाने के मुद्दे पर सीपीएम नेता ने येचुरी ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर कोई पक्ष विपक्ष नहीं होता है। विपक्ष पहले ही दिन से सरकार के साथ इस मसले पर खड़ा है। आ’तंकियों का मंसूबा यही है कि लोगों को विभाजित कैसे किया जाए और जो भी विभाजन करने का काम कर रहे हैं वो असल देश विरोधी हैं।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

कश्मीर के मुद्दे के हल पर प्रतिक्रिया देते हुए माकपा नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि अगर संसद के चुनाव के लिए कश्मीर में हालात सही हैं तो विधानसभा के लिए क्यों नहीं। कश्मीर में हालात तभी बदलेंगे जब राजनीतिक सहभागिता शुरू होगी। कश्मीर के लोगों को अलगाववादियों से अलग रखना चाहिए।

PM मोदी बोले- महात्मा गांधी कांग्रेस को समाप्त करना चाहते थे, हमारी सरकार उसी राह पर चल रही है

गठबंधन पर बयान देते हुए येचुरी ने कहा कि कोई भी महागठबंधन चुनाव से पहले नहीं बनता। जनता पार्टी की सरकारी भी चुनाव के बाद बनी। यूनाइटेड फ्रंट की सरकार भी चुनाव के बाद बनी। एनडीए की सरकार भी चुनाव के बाद बनी और यूपीए भी चुनाव के बाद ही बना। मोदी की तरफ से महागठबंधन को महामिलावट कहने पर माकपा नेता ने कहा कि पूरा देश ही महामिलावट है। कश्मीर से कन्याकुमारी तक बंगाली से मलयाली तक।