IMA ज्वेल्स घो’टाले की जांच के लिए SIT का गठन

New Delhi: कर्नाटक सरकार ने बुधवार को IMA ज्वेल्स घोटाले की जांच के लिए SIT का गठन किया है। उप-महानिरीक्षक बीआर रविकांत गौड़ा को इस विशेष जांच दल का प्रमुख नियुक्त किया गया है।  IMA के मालिक पर निवेशकों से 500 करोड़ रुपये से अधिक ठ’गने का आरोप है।

IMA के मालिक मोहम्मद मंसूर खान कथित तौर पर संयुक्त अरब अमीरात भाग गए हैं। IMA ज्वेल्स के खिलाफ अपनी शिकायत दर्ज करने के लिए पुलिस ने बेंगलुरु के शिवाजी नगर में एक कन्वेंशन सेंटर में विशेष केंद्र स्थापित किया है। । कंपनी द्वारा कथित धो’खाधड़ी के शिकार सैकड़ों लोगों ने यहां शि’कायत दर्ज कराई है।

IMA ज्वेल्स घो’टाले की जांच के लिए SIT का गठन
IMA ज्वेल्स घो’टाले की जांच के लिए SIT का गठन

सोमवार को निवेश फर्म के कार्यालय के बाहर सैकड़ों लोगों के जमा होने के बाद यह धो’खाधड़ी सामने आई। जिसमें आ’रोप लगाया गया कि इनको दो महीने से अधिक समय से कम्पनी ने अपने निवेशों को रिटर्न प्रदान नहीं किया है। बेंगलुरु की यह कंपनी कई सालों से हर महीने 3% से अधिक रिटर्न का वादा करके निवेशको से पैसा वसूल रही थी।

जब ये निवेशक अपने पैसे की वसूली के लिए इंतजार कर रहे थे, तब एक ऑडियो क्लिप सामने आई, जिसमें IMA के मालिक मोहम्मद मंसूर खान ने कहा कि जब तक लोग रिकॉर्डिंग सुनेंगे, तब तक उसने आत्महत्या कर ली होगी। उन्होंने पुलिस से उसकी संपत्तियों को बेचकर लोगों को पैसा लौटाने के लिए कहा।

इस संकट के लिए  मोहम्मद मंसूर खान ने कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री रोशन बेग को दोषी ठहराया। ऑडियो क्लिप में स्पीकर ने बेग पर लोकसभा चुनाव से पहले आईएमए से लिए गए 400 करोड़ रुपये नहीं लौटाने का आरोप लगाया।