यूपी के ऊर्जा मंत्री ने बढ़े बिजली दरों का जिम्मेदार विपक्ष को बताया

New Delhi: उत्तर-प्रदेश में बढ़े बिजली दरों को लेकर राजनीतिक घामासान जारी है। विपक्ष लगातार हमले कर रहा है। विपक्ष के लगातार हमलों पर यूपी के उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने ठीकरा विपक्ष के ऊपर ही फोड़ दिया है। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि – ‘सपा-बसपा के भ्रष्टाचार और बिजली खरीद के महंगे PPA के कारण विभाग घाटे में है। मजबूरी में करीब 11.50% वृद्धि की है, वहीं करीब 4.50% सरचार्ज समाप्त किया है और विद्युत आपूर्ति में 40% की रिकॉर्ड वृद्धि की है। सपा लालटेन लेकर नौटंकी नहीं, आत्मचिंतन करे’।

आपको मालूम हो कि यूपी में बिजली की दरें तकरीबन 12 फीसदी तक महंगी हो गईं हैं। इससे सभी श्रेणी के बिजली उपभोक्ताओं पर असर पड़ेगा। घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली दरें अधिकतम 60 पैसे प्रति यूनिट तक बढ़ाई गई हैं। किसानों की भी बिजली 15 फीसदी महंगी हो गई है जबकि औद्यौगिक उपभोक्ताओं की दरें घरेलू उपभोक्ता की तुलना से कहीं कम बढ़ाई गई हैं।

उत्तर-प्रदेश में बढ़े बिजली दरों को लेकर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा पर निशाना साधा । समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ट्वीट कर लिखा कि – ‘उप्र में बिजली के दरों में बढ़ोतरी और पश्चिम बंगाल में महंगी बिजली के विरोध में भाजपा का प्रदर्शन ! भाजपा शासित राज्यों में जनता से पैसे उगहाने के हर हथकंडे पर चुप्पी साधना व अन्य राज्यों में हल्लाबोलना भाजपा के दोहरे चरित्र का नाटक है। लेकिन भाजपा याद रखे हर नाटक का अंत होता है।

कांग्रेस पार्टी भी यूपी में बढ़े बिजली दरों को लेकर विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू की अगुवाई में लालटेन यात्रा निकाली थी।