“कांग्रेसी नेताओं के दिल में नहीं है कश्मीरियों के लिए प्रेम”- शिवराज सिंह चौहान

मध्यप्रदेश के पूर्व मुुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर निशा’ना साधा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं में कश्मीरी जनता के लिए प्रेम नहीं है। ये केवल हिन्दू-मुसलमान के आधार पर देश को देखते हैं। भाजपा के लिए भारत के नागरिक एक हैं, हम हिन्दू,मुस्लिम,सिख,ईसाई सभी को अपना मानते हैं। कश्मीर में शांति रखना,गरीबी दूर करना,उसे वास्तव में स्वर्ग बनाना हमारा ध्येय है।

इससे पहले उन्होंने भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को लेकर वि’वादित बयान दिया था। उन्होंने कहा कि जवाहर लाल नेहरू अप’राधी हैं।

जब भारतीय सेनाएं पाक कबीलाइयों का पीछा कर रही थीं तो नेहरू ने ही यु’द्ध विराम की घोषणा की थी। जिसके बाद पाकिस्तान ने कश्मीर की एक तिहाई भूमि पर क’ब्जा कर लिया। यदि वे कुछ दिनों तक सी’जफायर पर रोक न लगाते तो आज पूरा कश्मीर हमारा होता। उन्होंने कहा कि जवाहर लाल नेहरू का दूसरा अ’पराध अनुच्छेद 370 है। एक देश में दो निशान, दो विधान और दो प्रधान नहीं हो सकते । यह देश के न केवल अ’न्याय था बल्कि अ’पराध है।

कुछ दिनोें पहले कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार ने नियम- कायदों को ताक पर रखकर जम्मू- कश्मीर के टु’कड़े कर दिए और इसे केंद्रशासित प्रदेश बना दिया। इस पर अमित शाह भ’ड़क गए और कहा कि सरकार ने कौनसा नियम तो’ड़ा है, अधीर रंजन ये बतायें। सरकार इसका जवाब देने के लिए तैयार है।  इसके बाद इसका जवाब देते हुए शिवराज सिंह ने कहा था -अधीर जी शायद भूल गए थे कि वो भारत की लोकसभा के सदस्य हैं, पाकिस्तान की संसद के नहीं।

kaushlendra

सामाजिक और राजनीतिक विषयों पर लिखने में दिलचस्पी है।गांधी जी का फैन हूँ।समाज में जागरुकता लाना उद्देश्य है।पत्रकारिता मेरा प्रोफेशन है,जुनून है और प्यार भी है।
kaushlendra