कांग्रेस की हालत पर बोलें शिवराज ,असली गाँधी के सपने को नकली गाँधी पूरा कर रहे है

New Delhi : मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने गाँधी परिवार पर एक बार फिर निशाना साधा है। उन्होंने कहा स्वर्गीय इंदिरा गाँधी के समय से कांग्रेस में बड़े नेताओं को हमेशा से नजरअंदाज किया है फिर चाहे वो नरसिम्हा राव हो या मनमोहन सिंह। नरसिम्हा राव को देश का प्रधानमंत्री होने के बावजूद गांधी परिवार ने कोई महत्त्व नहीं दिया क्योंकि वह गाँधी परिवार से नहीं थे।

ऐसा ही उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ किया। मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री होने के बावज़ूद दस साल तक सरकार दोनों माँ बेटे ने चलाई। गाँधी परिवार की गलतियों का ख़ामियाजा पुरे कांग्रेस को उठाना पड़ रहा है। साथ ही उन्होंने कहा भारत को आज़ादी मिल जाने के बाद महात्मा गाँधी जी ने कहा था कि कांग्रेस का गठन देश को आज़ादी दिलाने के लिये किया गया था अब आज़ादी मिल जाने के बाद इसका कोई औचित्य नहीं है और अब कांग्रेस को भंग कर दिया जाना चाहिये। लेकिन देश के प्रधानमंत्री ने महात्मा गांधी की बात नहीं मानी। जिसके बाद अब असली गाँधी के सपने को नकली गाँधी पूरा कर रहे है।

साथ ही राहुल गाँधी के अध्यक्ष पद छोड़ने पर उन्होंने कहा कि मैंने सुना है किसी डूबते जहाज़ को बचाने की जिम्मेदारी उसके कप्तान की होती है लेकिन यहाँ कप्तान खुद ही जहाज से खुद कर भाग गए है मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस एक कप्तान के बिना डूबते जहाज की तरह हो गई है आज कोई नहीं जानता कि कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष कौन है। यह एक डूबते जहाज की तरह है जिसका कप्तान भाग रहा है और उसे डूबते हुये छोड़ रहा है,

उन्होंने कहा, “कांग्रेस अध्यक्ष ‘रणछोड़ जी’ गांधी बन गए हैं।” ‘रणछोड़’ से तात्पर्य किसी ऐसे व्यक्ति से है जो युद्ध के मैदान से भाग गया हो। उन्होंने कहा कांग्रेस अपनी इस हालत की स्वयं जिम्मेदार है और इसका आरोप वो नरेंद्र मोदी और भाजपा पर लगा रही है