शिवराज ने लोगों के साथ जलाई बिजली बिलों की होली, कहा- 100 रुपये लेना हो तो ले लो

New Delhi: मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को मंदसौर में बढ़े हुए बिजली के बिलों का हवाला देते हुए कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा और बिजली बिलों की आम जनता के साथ होली जलाई। कांग्रेस नेतृत्व वाली कमलनाथ सरकार पर बिजली बिलों को दोगुना करने के आरोप लगाते हुए कहा कि इतना मंहगा बिल मेरी बहनों से आप नहीं वसूल सकते।

शिवराज ने बिलों की होली जलाने वाली वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर करते हुए कहा “एक तो बारिश ने इतना नुकसान किया, ऊपर से गरीबों पर बढ़े हुए बिजली के बिलों की मार! एक भी गरीब बिजली का बिल नहीं भरेगा। कमलनाथ जी ने बिल आधे करने की बात कही थी, इस हिसाब से प्रशासन को रु. 100 लेना हो तो ले! बढ़े हुए बिलों की हमने सभी गरीब भाई-बहनों के साथ मंदसौर में होली जलाई!”

बता दें मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन दिनों बाढ़ प्रभावित मंदसौर में लोगों का हाल लेने पहुंचे हुए हैं। जिले के हालातों पर वह जमकर कमलनाथ सरकार को कोस रहे हैं। बाढ़ प्रभावितों का हाल लेने के नाम पर शूरू हुआ उनका ये दौरा अब राजनीतिक रंग में रंगता जा रहा है। ये वही मंदसौर है जहां साल 2017 में शिवराज सरकार ने किसानों के धरने प्रदर्शन पर गोलिया चलवाईं थी जिसमें कई किसान मारे गए थे।

शिवराज ने कमलनाथ सरकार पर बाढ़ पीड़ितों के प्रति लापरवाह होने का आरोप लगाया है। वहीं कांग्रेस ने कहा है कि जिस नेता ने किसानों पर गोलियां चलाई आज वो उनके लिए घड़ियाली आंसू बहाने यहां आ गए हैं। इसका जवाब देते हुए उन्होंने मीडिया से कहा कि मैं यहां नौटंकी करने नहीं आया हूं। कांग्रेस चाहिए कि वो अपने नेताओं को समझाए उन्हें ऐसी स्थिति में ऐसे बयान नहीं देने चाहिये।

वहीं दो दिनों से मंदसौर में डेरा जमाए हुए शिवराज ने बाढ़ पीड़ितो से बात कि उनकी समस्यांए सुनी। उन्होंने एक कीर्तन में भाग भी लिया जिसमें उन्होंने भक्ति भाव से गाने गाए। उन्होंने कहा इस कीर्तन का आयोजन सत्ता में बैठी बहरी सरकार को गरीबों की आवाज सुनाने के लिए था।