शिवराज सिंह चौहान ने कहा MP मेरा घर, मंदसौर बाढ़ पीड़ितों के लिए दान की एक महीने की सैलरी

New Delhi: मध्यप्रदेश के मंदसौर में बाढ़ के कहर को देखते हुए वहां के पूर्व मुख्यंमत्री और भारतीय जनता पार्टी के शिवराज सिंह चौहान ने एक बहुत ही बढ़िया कदम उठाने का फैसला किया है। शिवराज सिंह चौहान ने फैसला किया है कि वो बाढ़ पीड़ितों को अपने एक महीने की सैलरी दान में देंगे।

भाजपा नेता ने लोगों से आगे आने और पीड़ितों को राहत सामग्री मुहैया कराने का भी आग्रह किया। भाोपाल में कल मीडिया को संबोधित करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मंदसौर में बाढ़ ने त’बाही मचाई है। लोगों के जीवन बाधित हो गए हैं। उनमें से कुछ लोग फंसे भी हुए हैं। मैं बाढ़ पीड़ितों को अपना एक महीने का वेतन दान करूंगा। मैं लोगों से भी आग्रह करता हूं कि वे आगे आएं और भोजन, कपड़े या पैसे देकर अपने भाइयों-बहनों की मदद करें।

उन्होंने बाढ़ पीड़ित किसानों के लिए पर्याप्त काम ना करने के लिए कमलनाथ की सरकार पर भी अपना गु’स्सा निकाला। उन्होंने कहा कि राज्य के किसान बारिश की वजह से त’हस-न’हस और ब’र्बाद हो गए हैं। सोयाबीन, उरद जैसी उनकी फसल ब’र्बाद हो गई है। सरकार ने ऋण माफी के अपने वादे को पूरा नहीं किया। किसानों को जीरो प्रतिशत ब्याज पर बीज और मिट्टी नहीं मिली।

Image result for shivraj singh chauhan

उन्होंने कहा कि ये सरकार स्थिति की गं’भीरता को नहीं समझ रही है। किसानों की फसलें ख’राब हो गई हैं और कई जगहों पर अब तक सर्वे शुरू नहीं हुए हैं। प्रशासन को पूरी क्षमता और पूरी ताकत के साथ अपने राहत कार्य को आगे बढ़ाने की जरूरत है। मध्य प्रदेश मेरा घर है और इसके नागरिक मेरे परिवार के सदस्य हैं। उनके अधिकारों के लिए ल’ड़ना मेरा कर्तव्य है।

भारी बारिश के चलते मंदसौर के कई निचले इलाके जलमग्न हो गए हैं। कल अधिकारियों ने क्षेत्र से लोगों को निकालने के लिए कदम उठाए हैं। जिले में पिछले तीन दिनों से लगातार बारिश हो रही है। इंदिरा गांधी जिला अस्पताल में भी पानी घुस गया है।

मौसम विभाग की भविष्यवाणियों के अनुसार अगले कुछ दिनों के दौरान बारिश रूकने की बहुत कम संभावना है। स्थिति के कारण जिले को ‘हाई अ’लर्ट’ की स्थिति में डाल दिया गया है। राहत की बात ये है कि जिले में अभी तक किसी की जा’न जा’ने की खबर नहीं है।