शिवसेना ने सामना में कहा- सुशांत चरित्रहीन थे, भौंकनेवाले माफी मांगें, कंगना किस बिल में छिपी है

New Delhi : शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने सुशांत के लिये फिर से गंदगी उगली है। शिवसेना के मुखपत्र सामना में संजय राउत ने लिखा है कि सीबीआई जांच से यह साफ हो गया है कि सुशांत सिंह राजपूत चरित्रहीन व्यक्ति था और अपनी लगातार असफलताओं से घबराया हुआ था। अब सीबीआई जांच को सार्वजनिक करने का वक्त आ गया है। साफ हो गया है कि मुम्बई पुलिस की तफ्तीश सही दिशा में थी और इस पूरे मामले का राजनीतिकरण किया गया। भाजपा और सहयोगी दल सुशांत केस को बिहार चुनाव में भुनाना चाहतीं थीं इसलिये उन्होंने इसे विवादित करने का प्रयास किया। लेकिन सीबीआई जांच से उनके चेहरे पर कालिख पुत गई है।

संजय राउत ने सामना के संपादकीय में लिखा है- सुशांत मामले की आड़ में दिनरात मुम्बई पुलिस और महाराष्ट्र सरकार पर भौंकनेवाले न्यूज चैनलों को भी जवाब देना चाहिये। ऐसा लगता है कि एम्स रिपोर्ट आने के बाद सबको सांप सूंघ गया है। अब ऐसे चैनलों को पब्लिक से माफी मांगनी चाहिये। क्या अब ये लोग एम्स की रिपोर्ट को भी नकार देंगे? यह बड़ा सवाल है। पूरे प्रकरण में साफ हो गया है कि बिहार में नीतीश सरकार और उनके सहयोगियों के पास चुनाव के लिये कोई मुद्दा नहीं था तो वे मदारी बन गये और डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को इस मामले में नचाने लगे। फिर गुप्तेश्वर पांडेय भी नीतीश की पार्टी में चले गये। मुम्बई पुलिस पर चिल्लानेवालों और सीबीआई को जांच सौंपो, सीबीआई को जांच दो की रट लगानेवालों को अब इतने दिन बाद भी सीबीआई से पूछने की हिम्मत नहीं हो रही है कि सीबीआई की जांच में क्या हुआ?
सामना के संपादकीय में लिखा गया है – जब मामले में मुम्बई पुलिस जांच कर रही थी तो देशभर में कई गुप्तेश्वर को गुप्त रोग हो गया था। बेवजह चिल्लाने लगे थे। अब कहां है कंगना रनौत जिसने मुम्बई की तुलना पाकिस्तान और बाबर से की थी। किसी बिल में छिप गई है। हाथरस की दर्दनाक घटना पर ग्लिसरीन की मदद से ही सही दो आंसू तो बहाती, लेकिन अभी गायब है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seventy − = 67