शीला दीक्षित का सोनिया गांधी के नाम अंतिम खत में हुआ खुलासा-अजय माकन चाको को कर रहे थे गुम’राह

NEW DELHI : Sheila Dixit के देहांत के बाद कांग्रेस में एक नए खुलासे से खलबली मच गई है। शीला दीक्षित का सोनिया गांधी के नाम अंतिम खत में ऐसे कई खुलासे हुए हैं जिसमें अजय माकन पर संदि’ग्ध आरो’प लगाए गए हैं।

चैनल INDIA TV द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार शीला दीक्षित ने सोनिया गांधी के नाम अपने आखिरी खत में लिखा था- “मैं दिल्ली कांग्रेस को मजबूत करने के लिए फैसले ले रही हूं, लेकिन पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन के इशारे पर चलकर प्रभारी पीसी चाको बेवजह कदम उठा रहे हैं। पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन प्रभारी चाको को गुमराह कर रहे हैं और पार्टी को नुकसान पहुंचा रहे हैं। जानबूझकर मेरे फैसलों में अड़ंगा लगाया जा रहा है, जबकि, मैने ही ‘आप’ से अलग चुनाव लड़ने का फैसला लिया था।“

नटवर सिंह ने कांग्रेस पर कसा तंज, बोले-पार्टी ने शीला दीक्षित को नहीं दिया पूरा सम्‍मान

उन्होंने आगे लिखा, “माकन के कहने पर चाको तो उसके (आप) पक्षधर थे। आखिर में नतीजे बताते हैं कि 3 नम्बर की कांग्रेस बिना गठजोड़ के 2 नम्बर पर आ गयी। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने प्रभारी चाको को गलत समझाया और बेवजह मेरे फैसलों पर सवाल खड़े करवाए। मेरा साफ कहना है कि आलाकमान निष्पक्ष होकर पूरे मामले में मेरी, चाको की और अजय माकन की भूमिका की जांच कर ले। मुझे विश्वास है कि मेरी बात सही साबित होगी।“

बता दें कि शीला दीक्षित का दिल का दौरा पड़ने से शनिवार को निधन हो गया। शीला दीक्षित दिसंबर 1998 से दिसंबर 2013 तक दिल्ली की तीन बार मुख्यमंत्री रह चुकी थीं। मुख्यमंत्री रहने के बाद शीला दीक्षित केरल की राज्यपाल भी रह चुकी थीं। वर्तमान में वे दिल्ली प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष थीं। लंबे समय से बीमार होने के चलते 81 साल की उम्र में उनका निधन हो गया।