शारदा चिट फंड मामला: राजीव कुमार ने कोर्ट में लगाई गुहार, जमानत याचिका पर तुरंत हो सुनवाई

New Delhi: कोलकाता पुलिस के पूर्व कमिश्नर राजीव कुमार ने मंगलवार 24 सितंबर को कलकत्ता उच्च न्यायालय का रुख किया और करोड़ों रुपये के शारदा चिट फंड मामले में अग्रिम जमानत की मांग की। उन्होंने दावा किया कि सीबीआई उन्हें बिना किसी कारण परेशान कर रही है। कुमार वर्तमान में पश्चिम बंगाल सीआईडी ​​में अतिरिक्त महानिदेशक हैं। उन्होंने कहा कि उनकी छुट्टी बुधवार को समाप्त हो जाएगी और गिरफ्तारी से पहले जमानत के लिए उनकी याचिका पर तत्काल सुनवाई की जाए।

Quaint media
आपको बता दें कि 13 सितंबर को राजीव कुमार की गिरफ्तारी से कलकत्ता हाईकोर्ट ने सुरक्षा हटा दी है। अब गिरफ्तारी का फैसला जांच एजेंसी (CBI) पर निर्भर है। कोर्ट ने यह भी कहा कि जांच एजेंसी को गिरफ्तारी का सही कारण बताना होगा।

कोलकाता उच्च न्यायालय द्वारा दिए गए गिर’फ्तारी से सुरक्षा हटाने के बाद कोलकाता केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की टीमों ने दक्षिण पुलिस विभाग के उपायुक्त कार्यालय में प्रवेश किया, जिसमें पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार का आवास भी शामिल है। कोलकाता सेंट्रल ब्यूरो ऑफ़ इन्वेस्टीगेशन (CBI) ने पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को पूछताछ के लिए पेश होने का नोटिस दिया था। परन्तु राजीव कुमार सीबीआई के समक्ष पेश नहीं हुए। इसके बाद उनकी तलाश करने के लिए सीबीआई की एक 10 सदस्यीय टीम का गठन भी किया गया था।

शारदा चिटफंड स्कैम पश्चिम बंगाल का एक बड़ा वित्तीय घो’टाला है। इस घो’टाले में तृणमूल कांग्रेस के नेता व पूर्व मंत्री मदन मित्रा, शारदा समूह के मालिक सुदीप्त सेन सहित कई नेताओं पर आ’रोप लगे हैं। इसमें करीब 40 हजार करोड़ की हेर-फेर की बात सामने आई है। इस मामले में साल 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को जांच के आदेश दिए थे और मामले की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने पश्चिम बंगाल, ओडिशा और असम पुलिस को सहयोग करने का आदेश दिया था।

इन चिटफंड घोटालों की जां’च करने वाली पश्चिम बंगाल पुलिस की SIT टीम का नेतृत्व वर्ष- में 2013 में राजीव कुमार ने किया था। सीबीआई सूत्रों का कहना है कि एसआईटी जांच के दौरान कुछ खास लोगों को बचाने के लिए घोटालों से जुड़े कुछ अहम सबूतों के साथ या तो छेड़छाड़ हुई थी या फिर उन्हें गायब कर दिया गया था। इसी सिलसिले में सीबीआई राजीव कुमार से पूछताछ करने चाहती है जिसके बाद सीबीआई पर कई आरोप लगाते हुअ ममता बनर्जी ने उन्हें बचाने के लिए धरना दिया था। रोज वैली और शारदा चिटफंड मा’मले में सीबीआई ने अब तक 80 चार्जशीट दायर की हैं।