फैजाबाद का नाम बदलने पर बोले शरद यादव, CM का फैसला गलत,हर शहरों के नाम से जुड़ा होता हैं इतिहास

Jdu Leader Sharad Yadav

New Delhi: Uttar Pradesh के CM Yogi Adityanath ने 6 नवबंर यानी छोटी दिवाली के दिन अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम में शिरकत की। इस दौरान सीएम योगी ने बड़ा ऐलान किया। सीएम योगी ने फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या किए जाने की घोषणा की है। यही नहीं, भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान योगी ने अयोध्या को कई सौगातें दी हैं। सीएम ने अयोध्या में मेडिकल कॉलेज का नाम राजर्षि दशरथ और एयरपोर्ट का नाम हिंदुओं के आराध्य राम के नाम पर करने की घोषणा की।  

फैजाबाद के नाम बदलने के फैसले पर शरद यादव ने ट्वीट करते हुए योगी आदित्यनाथ ने इस फैसले की आलोचना की। शरद यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा कि फैजाबाद, शहरों, गलियों, सड़कों आदि के नाम बदलने से बीजेपी वाले यह समझ रहें हैं कि ठीक काम कर रहे हैं मगर आज नौजवान को नौकरी, किसान की आमदनी बढानी और विदेशों से ब्लैक मनी लाना यह सब नाम बदलने से नहीं होगा। मेरा मानना है कि शहरों आदि के नामों के पीछे कोई हिस्ट्री भी होती है।

Sharad Yadav

आप से इस्तीफा दे चुके आशुतोष ने निशाना साधा। आशुतोष ने सीएम .ही पर वार करते हुए ट्वीट किया। आशुतोष ने ट्वीटर पर लिखा- रोटी कपड़ा मकान रोज़गार का वादा कर सरकार बनाने वाली बीजेपी सिर्फ एक काम अच्छा कर पायी है और वो है शहरों के नाम बदलना। निस्सन्देह नाम बदलने में बीजेपी का कोई सानी नहीं है।

वहीं AAP नेता संजय सिंह ने निशाना साधा और योगी आदित्यनाथ को अपना नाम भी बदलने की सलाह दी। संजय सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा कि योगी जी को पहले अपना नाम बदलकर अजय सिंह बिष्ट रखना चाहिए, अयोध्या तो पहले से ही विधानसभा थी, शहर था फिर ये ड्रामा क्यों ? रामपुर का नाम वहां के नबाब ने मुस्तफबाद रख दिया था लेकिन जनता आज तक रामपुर ही कहती है, ऐसे तुगलकी फरमानों से जनता का करोड़ों रुपया बर्बाद होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *