उपछाया चंद्रग्रहण : दोष दूर करेंगे शिव और हनुमान, कच्चे दूध और खीर-दान से कष्ट दूर होंगे

New Delhi : शुक्रवार 5 जून ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण लग रहा है। 5 जून को लगने वाला ग्रहण उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा। जिसका अर्थ है कि चंद्रमा पर मात्र एक धुंधली सी छाया पड़ेगी। सामान्य ग्रहण की तरह इस तरह के ग्रहण में सूतक काल नहीं माना जाता है। भारतीय समय के मुताबिक चंद्र ग्रहण 5 जून की रात को 11 बजकर 15 मिनट पर लगेगा और 06 जून की सुबह 2 बजकर 32 मिनट पर समाप्त हो जाएगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस चंद्र ग्रहण का 5 राशियों पर गहरा प्रभाव पड़ने वाला है।

मेष राशि के जातकों को यह चंद्र ग्रहण किसी चिंता में डाल सकता है। चंद्र ग्रहण की वजह से मेष राशि के जातकों के मन में नकारात्मकता के भाव उत्पन्न हो सकते हैं। जिसकी वजह से छोटी-छोटी बातों को लेकर उनका मन परेशान रह सकता है। पैसों की वजह से आपसी कलह बढ़ने के आसार हैं। उपाय-चंद्र ग्रहण के प्रभाव से बचने के लिए कच्चे दूध का दान और हनुमान चालीसा का पाठ करने से लाभ मिल सकता है।

 

वृष राशि से सातवें घर का चंद्रग्रहण उनके वैवाहिक जीवन में कुछ कठिनाई ला सकता है। चंद्र ग्रहण के प्रभाव की वजह से वृष राशि के जातक आज के दिन अपनी आर्थिक स्थिति को लेकर परेशान रह सकते हैं। किसी भी महत्वपूर्ण कार्य को करने से पहले पार्टनर की सलाह लेना जरूरी है। उपाय- खीर का दान करना कल्याणकारी हो सकता है।
मिथुन राशि के जातकों को चंद्र ग्रहण के प्रभाव की वजह से बैंक लोन या उधार के पैसों का लेन-देन करना मुश्किल में डाल सकता है। रिश्तेदारों के साथ वाद-विवाद होने से संबंध खराब हो सकते हैं।सेहत को लेकर सचेत रहें।एलर्जी या रिएक्शन होने की आशंका है। उपाय- शिवलिंग पर जल चढ़ाने से लाभ मिल सकता है।
वृश्चिक राशि के जातकों को चंद्रग्रहण की वजह से पेट से संबंधित दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। वृश्चिक राशि में चंद्रग्रहण लगने से आपका मन विचलित रहेगा। यह उपछाया ग्रहण है इसलिए संयम से काम लेंगे तो स्थिति नियंत्रण में रहेगी।
उपाय-‘ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करें।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + two =