घटनास्थल पर सेल्फी लेने और वीडियो बनाने वालो हो जाओ सावधान, हो सकती है जेल

 New Delhi: अक्सर देखा जाता है कि जब भी कहीं एक्सीडेंट होता है तो वहां घा’यल की मदद करने की बजाय सेल्फी और वीडियो बनाने वाले लोगों की भीड़ ज्यादा होती है। समय पर मदद न मिलने मिलने पर घायल की मौ’त भी हो जाती है। ऐसे में Noida पुलिस ने बड़ा फैसला लिया है। इसके तहत यदि आप एक्सीडेंट स्पॉट पर फोटो लेते हैं या वीडियो बनाते हैं तो आपको जे’ल की हवा भी खानी पड़ सकती है। इसके साथ ही जुर्माना भी भरना पड़ सकता है। यह नियम 10 जून से लागू हो जाएगा।

इमरजेंसी के वक्त ऐसे आपका फोन बन सकता है आपका साथी

Noida पुलिस के अनुसार, ”सुप्रीम कोर्ट के दिशा- निर्देशों के अनुसार सड़क दुर्घटनाओं के प्रकरणों में घा’यलों को तत्काल प्राथमिक चिकित्सा उपलब्ध करवाई जाए। इसकी जिम्मेदारी समस्त नागरिकों की है। लेकिन आजकल ऐसा देखा जा रहा है कि घा’यलों का मदद की जगह पर लोग अपनी गाडियों को रोककर घटना का वीडियो बनाना शुरू कर देते हैं।”

अधिकारियों के अनुसार टीवी चैनल एक्सीडेंट की वीडियो काफी रुपयों में खरीद लेते हैं। इसकी वजह से लोग और भी ज्यादा वीडियो बनाते हैं और सोशल मीडिया पर भी शेयर करते हैं।

पुलिस अधीक्षक (यातायात) अनिल कुमार झा के अनुसार, ” ऐसे प्रकरणों में गौतम बुद्धनगर की पुलिस मौके पर पहुंचकर घा’यल व्यक्तियों को तत्काल प्राथमिक सुविधा उपलब्ध कराती है। इसके साथ ही अगर रास्ते में ट्रैफिक है तो यातायात को भी सुचारू करवाती है। इन टीमों को उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया गया है जो घा’यल व्यक्तियों को देखते हुए सेल्फी लेते हैं और वीडियो बनाते हैं। यह सब सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में रिकॉर्ड होगा।”

किन धाराओं के तहत होगी सजा
एक्सीडेंट का वीडियो बनाने या सेल्फी लेने पर मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 122 और 177 के तहत गि’रफ्ता’री का प्रावधान है। इसके साथ ही जुर्माना भी लगाया जा सकता है। सेक्शन 177 के तहत 100 रुपए से लेकर 300 रुपए का जुर्माना लगाया जा सकता है। साथ ही व्यक्ति को गि’रफ्ता’र किया जा सकता है।