सुप्रीम कोर्ट ने बहुमत साबित करने के लिए दिए 30 घंटे, हम 30 मिनट में कर देंगे: संजय राउत

New Delhi: महाराष्ट्र के सियासी ड्रामा पर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाते हुए बुधवार शाम पांच बजे तक सदन में बहुमत परीक्षण कराने का आदेश दिया है। नवनियुक्त देवेंद्र फडणवीस की सरकार को कल यानी बुधवार को शाम पांच बजे तक बहुमत साबित करना होगा। इस पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि सत्य की जीत हुई। कोर्ट ने 30 घंटे दिए हैं, हम 30 मिनट में बहुमत साबित कर सकते हैं।

इससे पहले कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस तीनों दल संतुष्ट हैं। देवेंद्र फडणवीस को आज ही इस्तीफा दे देना चाहिए।

फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि महाराष्ट्र विधानसभा में फ्लोर टेस्ट कराया जाएगा। फ्लोर टेस्ट प्रोटेम स्पीकर की देखरेख में होगा। पहले प्रोटेम स्पीकर सभी विधायकों को शपथ दिलायेंगे। फ्लोर टेस्ट में गुप्त मतदान नहीं होगा और इसका लाइव प्रसारण किया जाएगा।

जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस संजीव खन्ना की बेंच ने इस मामले में सुनवाई की। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के फैसले की न्यायिक समीक्षा हो सकती है या नहीं? इस पर सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षकारों को लिखित दलीलें 8 हफ्ते में देने को कहा है।

बता दें कि देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार की सरकार के गठन को चुनौती देने वाली कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुनवाई की। शिवसेना की तरफ से कपिल सिब्बल, एनसीपी- कांग्रेस की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी, केंद्र की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता और महाराष्ट्र बीजेपी और देवेंद्र फडणवीस की तरफ से मुकुल रोहतगी कोर्ट रूम में मौजूद थे। सबकी दलीलें सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था।

होटल हयात में शिवसेना, एनसीपी- कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन

मुंबई के होटल ग्रैंड हयात में सोमवार रात को शिवसेना- कांग्रेस और एनसीपी विधायक इकट्ठा हुए और इस दौरान विधायकों ने एकजुटता दिखाते हुए पार्टी के प्रति ईमानदार रहने और भाजपा का समर्थन न करने की कसम खाई। शक्ति प्रदर्शन में 162 विधायकों में एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार, उनकी बेटी सुप्रिया सुले, छगन भुजबल, शिवसेना अध्यक्ष उध्दव ठाकरे, बेटे आदित्य ठाकरे, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक चव्हाण जैसे नेता मौजूद थे। इस दौरान शरद पवार ने चुनौतीभरे लहजे में कहा था कि यह महाराष्ट्र है, मणिपुर और गोवा नहीं। फ्लोर टेस्ट के दिन मैं 162 से ज्यादा विधायक लेकर आऊंगा।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बोले NCP नेता नवाब मलिक- सत्यमेव जयते, बीजेपी का खेल खत्म