कंगना के इंटरव्यू से बॉलीवुड में सन्नाटा, कहा- अगर मैं चुप रही तो वे मेरी जान ले लेंगे, इसलिये बोलूंगी

New Delhi : बॉलीवुड की क्वीन कंगना रनौत के खुलकर सामने आने से फिल्म इंडस्ट्री सन्नाटे में है। ऐसा लग रहा है जैसे पूरी इंडस्ट्री को सांप सूंघ गया है। कंगना रनौत ने रिपब्लिक न्यूज चैनल के एडिटर अर्नब गोस्वामी को इंटरव्यू दिया है, जिसमें उन्होंने बॉलीवुड की काली कोठरी के सारे राज फाश कर दिये हैं। उन्होंने इंटरव्यू में दावा किया कि सभी बड़ी पार्टियों में कोकीन, एलएसडी, एमडी जैसी चीजें पानियों की तरह बहती हैं। 99 फीसदी इंडस्ट्री के लोग इनके आदि हैं। उन्होंने यह भी दावा किया कि रियेक्शन की वजह से ऋतिक रोशन को कोकिला बेन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। और पूरी मीडिया को इसकी जानकारी है, बस सबने पर्दा डाल दिया।

रिपब्लिक भारत से बातचीत में कंगना ने कहा- मैं यहां मनाली में हूं। अगर मुंबई में होती तो कब का इन्होंने मुझे क्या कर दिया होता। जब मैंने इनके खिलाफ पहली बार राज खोले थे, तब इन्होंने बहुत कोशिश की थी कि किसी तरह मुझे जेल में डलवा दें या मेरी जान ले लें। तभी तो आज मैं सुशांत के लिये खड़ी हो पा रही हूं। अगर मैंने उस समय आवाज नहीं उठाई होती तो आज तो शायद इतना कुछ बताने को नहीं होता। मैं तो कितने सालों से बताती आ रही हूं। कुछ लोग यह कह रहे हैं कि मैं अपनी पर्सनल दुश्मनी निकालना चाहती हूं। क्यों न निकालूं? अगर मैं उनको खत्म न करूं तो वो मुझे खत्म कर देंगे। मैं तो अपने दुश्मनों को खत्म करूंगी।
कंगना आगे कहती हैं – आप कौन होते हैं मुझे यह कहने वाले कि सुशांत केस में कंगना क्यों कूद रही हैं? मैं क्यों न कूदूं? जब ये लोग मेरी जान लेने की कोशिश कर रहे हैं। मुझे घसीटा गया। मुझे पागल घोषित किया गया। तो मैं क्यों न इसमें आऊं। ऐसे लोगों को मैं सिर्फ एक ही बात कहना चाहती हूं कि अपना मुंह बंद रखिये। आप मुझे मेरे मौलिक अधिकारों के लिये लड़ने से नहीं रोक सकते। ये मेरे लोकतांत्रिक अधिकार हैं।

उन्होंने कहा- मैं नये कलाकारों, यंगस्टर्स से भी कहना चाहती हूं कि वे आगे आयें। घुट घुट कर मत जियो। पुलिस में। मीडिया में। सोशल मीडिया प्लैटफार्म्स पर, जहां भी मदद मिलती हो मदद लो, शिकायत करो। तुम दोषी नहीं हो। जो तुम्हारे साथ गलत कर रहे हैं वे दोषी हैं। जाल से निकलो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 3 = two