अभी-अभी: 84 दंगे का दोषी सज्जन कुमार दिल्ली की मंडोली जेल लाया गया, कोर्ट में किया सरेंडर

New Delhi: 1984 में हुए सिख दंगों में दोषी पाए जाने वाले सज्जन कुमार को कोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाई गई और सरेंडर करने के लिए 31 दिसंबर तक का समय दिया गया था। वहीं अब पूर्व कांग्रेस नेता सज्जन ने कड़कड़डूमा कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। सरेंडर करने के बाद अब उसको दिल्ली की मंडोली जेल लाया गया है।

 

कड़कड़डूमा कोर्ट में सरेंडर के बाद दिल्ली मंडोली जेल लाया गया सज्जन

sajjan kumar

जानकारी के मुताबिक, सज्जन कड़कड़डूमा कोर्ट या फिर तिहाड़ जेल के अधिकारियों के सामने सरेंडर कर सकते हैं। आपको बता दें कि सज्जन कुमार ने दिल्ली हाईकोर्ट से सरेंडर करने की तारीख को आगे बढ़ाने की अपील की थी, लेकिन हाईकोर्ट ने इस अपील को खारिज कर दिया।दिल्ली उच्च न्यायालय ने 17 दिसंबर को सिख विरोधी दंगों में पांच लोगों की हत्या के मामले में पूर्व सांसद सज्जन कुमार समेत अन्य लोगों को सजा सुनाई थी। वहीं अब उसके सरेंडर के बाद उसको लाया गया है। जिसके बाद सज्जन कुमार ने पारिवारिक जिम्मेदारी को पूरा करने के लिए दिल्ली उच्च न्यायालय से आत्मसमर्पण की तिथि को बढाने के लिए याचिका दायर की थी जिसे खारिज कर दिया गया।

 

1984 दंगे में दोषी सज्जन

बता दें कि सन 1984 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुए सिख विरोधी दंगों में सबसे मुख्य आरोपी के नाम के तौर पर सज्जन कुमार का नाम आ चुका है। दिल्ली हाई कोर्ट ने सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा सुनाई और 31 दिसंबर तक उन्हें आत्मसमर्पण करने को कहा है। सज्जन सिंह को लेकर निचली अदालत में मामला चल रहा था जहां उन्हें सभी आरोपों से बरी कर दिया गया था। 2012 में सीबीआई प्रोसीक्यूटर ने दिल्ली हाई कोर्ट के समक्ष ये कहा था कि कांग्रेस नेता सज्जन कुमार ने ही इंदिरा गांधी की हत्या के बाद दंगों को भड़काया था। इस दंगे के बाद पूरे देश में काफी हलचल देखने को मिली थी। वहीं अब लंबे समय से कोर्ट में चल रहे केस में आज सुनवाई हुई है और सज्जन को उम्र कैद की सजा सुनाई गई है।