गोडसे पर दिए गए बयान पर साध्वी प्रज्ञा ने दी सफाई, कहा बयान को गलत तरीके से पेश किया गया

New Delhi : भोपाल की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कल संसद में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथुराम गोडसे का हवाला देशभक्त के तौर पर दिया। इस पर साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने अपने बयान को तोड़मरोड़ कर पेश करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उन्होंने स्वतंत्रता सेनानी उधम सिंह के बारे में कहा था।

प्रज्ञा सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा कि कभी-2 झूठ का बबण्डर इतना गहरा होता है कि दिन मे भी रात लगने लगती है किन्तु सूर्य अपना प्रकाश नहीं खोता पलभर के बबण्डर मे लोग भ्रमित न हों सूर्य का प्रकाश स्थाई है। सत्य यही है कि कल मैने ऊधम सिंह जी का अपमान नहीं सहा बस।

इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस बयान के बाद प्रज्ञा सिंह ठाकुर को आंतकवादी बताया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि आतंकवादी प्रज्ञा आतंकी गोडसे को देशभक्त कहती है, यह भारत की संसद के इतिहास में एक दुखद दिन है।

आपको बता दें कि प्रज्ञा सिंह के बयान पर आज संसद में विपक्ष ने भाजपा पर खूब हमला किया। वहीं ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने प्रज्ञा ठाकुर को गांधी का दु’श्मन करार दिया है। भोपाल से भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर के विवादित बयान पर ओवैसी ने कहा कि यह पहली बार नहीं है जब उसने ऐसा कुछ कहा है। यह दिखाता है कि वह गांधी की दु’श्मन है। वह गांधी के ह’त्यारों की समर्थक है।

गौरतलब है कि अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाली भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। इस साल हुए लोकसभा चुनावों में उन्होंने गांधी जी के हत्यारे नाथूराम गोडसे पर विवादित बयान देते हुए कहा था कि गोडसे देश भक्त थे, हैं और रहेंगे।