रुपए ने हासिल की मजबूती, डॉलर के मुकाबले 23 पैसे हुआ मजबूत

New Delhi: 10 दिन लगातार शेयर मार्केट गिरने के बाद बुधवार को एक आच्छी खबर आई, जब डॉलर के मुकाबले रूपए में मजबूती देखी गई। जानकारों के अनुसार यह मजबूती अन्तर्राष्ट्रीय घटनाओं  के कारण आया है।

रुपए में यह मजबूती क्रूड की कीमतों में गिरावट, घरेलू इक्विटी में अधिक तेजी और अमेरिकी-चीन व्यापार वार्ता की उम्मीदों के चलते आई है, जिससे बुधवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 23 पैसे बढ़कर 70.21 के स्तर पर खुला।

विदेशी मुद्रा डीलरों ने कहा, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा मंगलवार को उम्मीद जताई गई थी कि दुनिया की शीर्ष दो अर्थव्यवस्थाएं एक समझौते पर पहुंच सकेंगी। इंटरबैंक फॉरेक्स मार्केट में रुपया 70.32 पर मजबूत हुआ और उसके बाद आगे की बढ़त हासिल की और  70.21 का आंकड़ा छू लिया।

देश में  शेयर बाजार का लगातार दस दिन से गिरने का दौर जारी था।सप्‍ताह के दूसरे कारोबारी दिन मंगलवार को सेंसेक्‍स करीब 60 अंक टूटकर 37 हजार के आंकड़े के करीब पहुंच गया है. बाजार के जानकारों की मानें तो राजनीतिक अस्थिरता और अमेरिका-चीन के बीच तनाव की वजह से यह हालात बने हुए हैं।

बुधवार को , बेंचमार्क बीएसई सेंसेक्स 87.83 अंक या 0.24 प्रतिशत की बढ़त के साथ 37,410.15 पर कारोबार कर रहा था, जबकि एनएसई निफ्टी 11,245.00 पर, 22.95 अंक या 0.40 प्रतिशत की गिरावट के साथ कारोबार कर रह था।

अमेरिका और चीनव के बीच चल रहें ट्रेड वार के वजह से अन्तर्राष्ट्रीय आर्थिक बाजार में काफी तनाव चल रहा है। मंगलवार को  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा  दुनिया की शीर्ष दो अर्थव्यवस्थाएं एक समझौते पर पहुंचने के उम्मीद जताने से यह ट्रेड वार खत्म होने की संभावना है।

Rajat Kumar

Trainee Copy Editor at Live India
सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीं,
सारी कोशिश है कि ये सूरत-ए-हाल बदलनी चाहिए।
Rajat Kumar