कड़ाके की ठंड में जम गई हिमाचल की चंद्रा नदी, पानी की जगह तैर रही बर्फ

New Delhi: उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड है, इसका अंदाजा आप हिमांचल प्रदेश से सामने आ रही तस्वीरों से लगा सकते हैं। हिमाचल के लाहौल स्पीति में चंद्रा नदी ठंडी हवाओं के कारण पूरी तरह से जम गई है, जो पानी बहते हुए कल तक दिखाई देता हैं, आज उसमें केवल बर्फ की सिल्लियां देखने को मिल रही हैं। पानी के बहने की रफ्तार भी धीमी हो गई है। अगर यहां तापमान गिरता रहा तो पानी पूरी तरह से जम जाएगा।

River Chandra

लाहौल-स्‍पीति में कड़ाके की ठंड के बीच तापमान शून्‍य से 11.1 डिग्री सेल्सियस नीचे तक पहुंच गया है। लाहौल-स्‍पीति के केलांग में आज शून्य से 11.1 डिग्री सेल्सियस नीचे तापमान दर्ज किया गया तो मनाली, कल्पा, सोलन, चम्बा, श्योबाग, सुंदरनगर और भुन्टर में भी तापमान शून्य से नीचे रहा। बात करें शिमला की तो शिमला में तापमान 2.7 डिग्री सेल्सियस और डलहौजी में 1.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वहीं जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के पीर पंजाल और आसपास के इलाकों में बारिश और बर्फबारी देखने को मिल रही है। इसकी वजह से ठंड बढ़ने के पूरे आसार है। आपको बता दें कि बर्फबारी के चलते घाटी में शोपियां को पूंछ और राजोरी से जोड़ने वाली मुगल रोड को बंद करना पड़ा था। वहीं श्रीनगर-लेह का राष्ट्रीय राजमार्ग भी खराब मौसम के कारण आवाजाही बंद हो गई।

ऐसे में लोगों को यातायात करने में खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही जम्मू जाने वाले हवाई यात्रा पर भी असर पड़ने की उम्मीद है। इसके अलावा कश्मीर घाटी के कई जिलों का तापमान 4 से 8 डिग्री तक गिर गया है। वहीं घाटी के पीर पंजाल, सोनमर्ग के अलावा साधाना टाप, जोजिला पास के इलाकों के आसपास भी हल्की बर्फबारी आज सुबह देखने को मिली।

मौसम विभाग की मानें तो जम्मू-कश्मीर के कई हिस्सों में हल्की बारिश के साथ बर्फबारी देखने को मिल सकती है। साथ ही तापमान में भी गिरावट देखने को मिलेगी।  ऐसे में लोगों को एहतियात बरतने की सलाह दी गई है। वहीं मौसम विभाग ने कश्मीर के अलावा लद्दाख में भी इसका असर दिखने की उम्मीद जताई है।