LJP सांसद चिराग पासवान के लिए खुले कांग्रेस के दरवाजे, कांग्रेस नेता बोलीं- हम करेंगे स्वागत

New Delhi:  लोक सभा चुनाव से पहले बीजेपी को झटका लग सकता हैं। दरअलस, एनडीए एक तरह से टूटने के कगार पर है। बिहार में रालोसपा के बाद संभव है कि रामविलास पासवान की पार्टी लोजपा भी मोदी सरकार का साथ छोड़ दे। लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान का बयान सामने आया था, जिसमे चिराग कह रहे थे कि टीडीपी और रालोसपा के एनडीए से अलग होने के बाद गठबंधन नाजुक मोड़ से गुजर रहा है। उन्होंने कहा था कि बीजेपी को साथियों की चिंताओं का समाधान करना चाहिए।

इसको लेकर कांग्रेस नेता रंजीत रंजन ने कहा कि चिराग पासवान जी और रामविलास पासवान जी ने मौसम का मिजाज समझ लिया है और अब वे डूबती नैया में पांव नहीं रखना चाहते हैं और उन्हें एहसास हो चुका है कि जो मुद्दे ये NDA के साथ लेकर चले थे वे गलत हैं। उन्होंने आगे कहा कि वैसे तो फैसला आलाकमान करते हैं, लेकिन अगर चिराग पासवान कांग्रेस में आना चाह रहे हैं तो मुझे लगता हैं कि हमारे दरवाजे खुले हैं और हम स्वागत करेंगे।

Ranjeet Ranjan

आपको बता दें कि एक निजी चैनल के कार्यक्रम में चिराग पासवान ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तारीफ करते हुए केंद्र सरकार पर भी तंज कसा था। चिराग ने एक सवाल पर कहा कि राहुल गांधी बड़े नेता हैं। हाल के दिनों में उनमें कई सकारात्मक बदलाव आए हैं। उन्होंने केंद्र सरकार की कार्यशैली पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि सबके विकास के लिए जो योजनाएं बनीं, उनमें से कई तो धरातल पर उतरी ही नहीं।

एक दिन पहले भी चिराग ने कहा था कि एनडीए नाजुक दौर से गुजर रहा है। कई सहयोगी दल साथ छोड़ चुके हैं। ऐसे में भाजपा को एनडीए के अन्य घटक दलों को साथ बनाए रखने का प्रयास करना चाहिए। ऐसे में राजनीतिक हलकों में यह सवाल उभरने लगे हैं कि कहीं रालोसपा जैसी परिणति लोजपा की भी न हो? कुशवाहा भी एनडीए से अलग होने की घोषणा करने के पहले तक ऐसी ही बातें करते थे। नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने की बात भी करते थे और भाजपा से अपनी हिस्सेदारी को लेकर जवाब भी मांग रहे थे।