राजनाथ सिंह ने फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोरेंस पैर्ली से की मुलाकात, रक्षा सहयोग पर हुई बात-चीत

New Delhi : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को फ्रांस में अपने समकक्ष से मुलाकात की। इसकी जानकारी खुद रक्षा मंत्री ने खुद ट्वीट करके दी। राजनाथ सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा कि पेरिस में वार्षिक रक्षा वार्ता के दौरान सशस्त्र बलों के फ्रांसीसी मंत्री, सुश्री फ्लोरेंस पैर्ली के साथ उपयोगी विचार-विमर्श हुआ। हमने अपने द्विपक्षीय रक्षा जुड़ाव के पूर्ण स्पेक्ट्रम का आकलन और समीक्षा की

आपको बता दें कि मंगलवार को दशहरे के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के मौजूदगी में दिन भारत को पहला राफेल विमान मिला। राफेल हेंडओवर सैरेमनी में रक्षामंत्री राजनाथ ने कहा है कि बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक दशहरे के दिन भारत को राफेल मिल रहा है। राफेल से भारत की ताकत बढ़ेगी। राजनाथ ने कहा कि राफेल का मतलब आंधी होता है। आज हमारी सेनाओं के लिए ऐतिहासिक दिन है।

उन्होंने कहा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने भारत की रक्षा प्रणाली को मजबूत किया। मैं उनको नमन करता हूं। उन्होंने कहा कि मैं फ्रांस का शुक्रगुजार हूं कि वो सिर्फ रक्षा ही नहीं अन्य मामलों में भी भारत का साथ देता है। फाइटर जेट रफाल कई मायनों में खास है। ANI ने भारत को मिलने वाले राफेल की तस्वीर जारी की है। म‍िसाइल कंपनी एमबीडीए के अनुसार, रफाल में दो ऐसी म‍िसाइलें लगी हैं, ज‍िसके कारण भारत हवाई हमले में दुन‍िया में बाहुबली साब‍ित हो सकता है। रफाल में स्कैल्प और मेटेओर दो ऐसी म‍िसाइल लगी हैं जो इंड‍ियन एयरफोर्स के ल‍िए गेमचेंजर साब‍ित होंगी।

स्कैल्प लॉन्ग रेंज की ज‍िसके रहते रफाल को दुश्मन के इलाके में जाने की जरूरत नहीं है। स्कैल्प मिसाइल लंबी दूरी तक मार और सर्जिकल स्ट्राइक जैसे ऑपरेशन के लिए ही बनी है। 600 किमी तक मार करने वाली 1300 किलो वजनी स्कैल्प से रफाल राजस्थान से ही पाकिस्तान के करांची जैसे दूसरे बड़े शहर को निशाना बनाया जा सकता है। इसमें 100 किमी तक मार करने वाली दूसरी मिसाइलें भी लगी हैं।