राफेल पर देश के लोगों को राहुल गांधी ने झूठ बोल कर किया गुमराह, अब मांगे माफी- निर्मला सीतारमण

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मामले में कांग्रेस द्वारा दाखिल सभी समीक्षा याचिकाओं को खारिज कर दिया। कोर्ट के इस फैसले के बाद अब भाजपा के कई नेता राहुल गांधी की इस पर आलोचना कर रहे हैं। अब तात्कालीन रक्षामंत्री और वर्तमान में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस पर राहुल गांधी की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें जनता से झूठ बोलकर लोगों को गुमराह करने के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए।

जब ये मुद्दा कांग्रेस ने गर्मजोशी के साथ उठाया था तब सीतारमण रक्षामंत्री थी। इस नाते विपक्ष ने सबसे ज्यादा उन्हें ही घेरा था। अब जब कोर्ट ने इस याचिका को ही खारिज कर दिया है, तो उनकी ये टिप्पणी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। सीतारमण ने कोर्ट के फैसले की सराहना करते हुए राहुल पर निशाना साधा उन्होंने कहा राफेल फाइटर जेट सौदे पर सवाल उठाने के पीछे उनका “प्रेरित प्रचार” था। उन्होंने कहा “कांग्रेस के राहुल गांधी द्वारा की गई टिप्पणी, राजनीतिक लाभ के लिए कई बार दोहराई गई थी। उन्हें झूठे के साथ जनता को गुमराह करने के लिए राष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए, यहां तक ​​कि लोकसभा में भी। ,”

इसके साथ ही सीतारमण ने मांग की कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी इस मुद्दे पर लोगों को गुमराह करने के लिए राष्ट्र से माफी मांगें। उन्होने कहा “यह दर्शाता है कि सरकार का निर्णय मूल्य, प्रक्रिया और ऑफसेट पर सही था। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई यह डील राष्ट्र हित में थी जिसने देश की सुरक्षा को मजबूत किया”।

इससे पहले आज, मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली तीन-न्यायाधीशों की पीठ ने 14 दिसंबर, 2018 के फैसले की समीक्षा करने वाली याचिकाओं के एक बैच पर एक आदेश पारित किया, जिसमें फ्रांस से एनडीए सरकार द्वारा 36 राफेल जेट की खरीद को बरकरार रखा गया था।