प्रिय मलिक जी, मैं जम्मू-कश्मीर कब आ सकता हूँ : राहुल गांधी

New Delhi : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ने बुधवार को जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के निमंत्रण को स्वीकार करते हुए कहा कि – प्रिय मालिक जी , मैंने आपका ट्वीट देखा , मैं जम्मू-कश्मीर की यात्रा करने और लोगों से मिलने के आपके निमंत्रण को स्वीकार करता हूं, जिसमें कोई भी शर्त नहीं जुड़ी है। मैं कब आ सकता हूँ।

इसके पहले भी राहुल ने एक ट्वीट करते हुए लिखा था कि – मैं, आपके निमंत्रण पर विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की यात्रा पर आना चाहता हूँ। हमें विमान की आवश्यकता नहीं है, लेकिन कृपया हमें वहां आजादी से यात्रा करने, स्थानीय लोगों, वाहन के स्थानीय नेताओं और हमारे सैनिकों से मिलने की स्वतंत्रता सुनिश्चित करें।

अनुच्छेद 370 हटने के बाद से केंद्र सरकार लगातार इस बात आश्वासन दे चुकी है कि जम्मू कश्मीर के लोग केंद्र के फ़ैसले से खुश है ,घाटी में शांति का माहौल है और अब तक किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना की ख़बर नहीं है। वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बयान दिया था कश्मीर घाटी में हिं’सा की खबरे हैं। जिसके जवाब में जम्मू कश्मीर राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि ‘मैं राहुल गांधी के लिए एक विमान भेजूंगा वह यहां आएं और जमीनी हकीकत जान लें।’

बता दें कि शनिवार को राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा था कि ‘जम्मू कश्मीर से हिं’सा की खबरें आ रही हैं। पीएम नरेंद्र मोदी को इस संबध में पारदर्शी तरीके से सोच विचार कर आगे बढ़ना चाहिए।’ जिसका जवाब देते हुये राज्यपाल मलिक ने आगे कहा कि किसी धर्म या संप्रदाय को देखकर अनुच्छेद 370 नहीं हटाया गया है।