1984 दंगे के सवाल पर बोले राहुल गांधी, पहले भी कह चुका हैं, इसमें कांग्रेस नहीं थी शामिल

NEW DELHI: 1984 के सिख विरोधी दंगा मामले में कल यानी 17 दिसंबर को हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया। कोर्ट ने 6 सिखों की हत्या करने वाले आरोपी सज्जन कुमार को दोषी करार दिया और उम्र कैद की सजा सुनाई। हाईकोर्ट का ये फैसला निजली अदालत के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर आया। दोषी करार दिए जाने के सवालों पर कांग्रेस नेता सज्जन कुमार ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया और इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने की बात कही।

वहीं जब इस मामले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि मैनें दंगों पर अपनी बात पहले की स्पष्ट कर दी हैं, 1984 दंगे में कांग्रेस शामिल नहीं थी। दरअसल, इसी साल के अगस्त के महीने में अपने ब्रिटेन के दो दिवसीय यात्रा पर राहुल गांधी ने एक सभा में था कि यह घटना त्रासदी थी और बहुत दुखद अनुभव था, लेकिन उन्होंने इससे असहमति जताई कि इसमें कांग्रेस शामिल थी।

1984 anti-Sikh riots

उन्होंने कहा था कि मुझे लगता हैं कि किसी के भी खिलाफ कोई भी हिंसा गलत हैं। भारत में कानूनी प्रक्रिया चल रही हैं, लेकिन जहां तक मैं मानता हूं उस समय कुछ भी गलत किया गया तो उसे सजा मिलनी चाहिए और मैं इसका 100 फीसदी समर्थन करता हूं। उन्होंने कहा कि मेरे मन में कोई भ्रम नहीं हैं। यह एक त्रासदी थी। आप कहते हैं कि उसमें कांग्रेस पार्टी शामिल थी, मैं इससे सहमत नहीं हूं।

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सज्जन कुमार को दोषी करार दिए जाने पर कहा कि सज्जन कुमार के खिलाफ कोर्ट के फैसले का स्वागत करता हूं, आखिरकार 34 साल बाद सिख समुदाय को कुछ इंसाफ मिला। उम्मीद है कि इसमें शामिल अन्य बड़े नेता भी दंडित होंगे, और इसी तरह 2002 के गुजरात दंगों तथा मुज़फ़्फ़रनगर दंगों के दोषी भी सज़ा पाएंगे।

इससे पहले मामले को लेकर अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए कहा कि यह निर्दोष पीड़ितों के लिए बहुत लंबा दर्दनाक भरा इंतजार रहा है, जिनकी हत्या सत्ता में हुई थी। उन्होंने कहा कि वह 1984 के दंगों के मामले में सज्जन कुमार को दोषी ठहराए जाने के उच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि चाहे कोई कितना भी शक्तिशाली क्यों न हो, लेकिन किसी भी दंगे में शामिल किसी को भी बचने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए।