राहुल द्रविड़ या फिर वी वी एस लक्षमण बन सकते हैं टीम इंडिया के बल्लेबाजी कोच

New Delhi: वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले सेमीफाइनल मैच में हारकर बाहर हुई इंडियन टीम में बड़े बदलाव किये जाने की तैयारियां चल रहीं हैं। इसी के तहत कोच पद के लिये आवेदन मंगाए गए हैं।

लेकिन जो सबसे बड़ा बदलाव होने की खबरें आ रहीं थीं वो यह थीं कि सहायक कोच और बल्लेबाजी कोच का पदभार संभाल रहे कोच संजय बांगड़ उनके पद से हटाए जा सकते हैं।

संजय बांगड़ की जगह बीसीसीआई सहायक और बल्लेबाजी कोच को लिये किसी नए और अनुभवी चेहरे की तलाश में जुटी हुई है। और उनमें सबसे बड़े दावेदार के रूप में राहुल द्रविड़ और वी वी एस लक्षमण का नाम निकल कर सामने आ रहा है।

गौरतलब है कि टीम इंडिया के मुख्य कोच पद और सहायक कोच पद के लिये आवेदन करने की आखिरी तारीख 30 जुलाई तय की गई है। बल्लेबाजी कोच के लिये आवेदन करने वालों में स्टीफेन फ्लेमिंग, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण, जैक्स कालिस और रिकी पोंटिंग जैसे नाम शामिल हैं।

आपको बता दें कि 44 साल के वी वी एस लक्षमण आईपीएल में सनराइजर्स के मेंटॉर रह चुके हैं। और एक समय तक लक्षमण भारत के सबसे कलात्मक बल्लेबाज थे। यही नहीं लक्षमण ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में 134 टेस्ट में 46 के औसत से कुल 8781 रन बनाए हैं।

लक्षमण टीम की हालिया दौर की सबसे बड़ी समस्या मध्यक्रम के बल्लेबाज को भी सुलझा सकते हैं। हैदराबाद का यह स्टार बल्लेबाज टीम इंडिया के बल्लेबाजों की तकनीकि खामियों को बेहतर तरीके से समझ और सुधार सकता है।

बल्लेबाजी कोच के रूप में जो सबसे बड़ा नाम है वो है टीम के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज रहे राहुल द्रविड़ का। द्रविड़ तकनीकि तौर पर भारत के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक माने जाते हैं।

द्रविड़ इंडिया ए और अंडर 19 के भी वो कोच रह चुके हैं। उनकी कोचिंग में ही अंडर 19 टीम ने विश्व कप जीता था। पृथ्वी शॉ और शुभमन गिल जैसे युवा बल्लेबाजों को निखारने में राहुल की भूमिका अहम मानी जाती है।

उनके पास 344 वनडे और 164 टेस्ट मैच का अनुभव है। हालांकि, द्रविड़ ने कुछ महीने पहले कहा था कि वो युवा खिलाड़ियों की कोचिंग को वक्त देना चाहते हैं।