हड़बड़ मोदी,बड़बड़ मोदी,हर काम में गड़बड़ मोदी,5 साल हर कमजोर को सताया नहीं चाहिए ये लड़झड मोदी

New Delhi: हड़बड़ मोदी, बड़बड़ मोदी, हर काम में गड़बड़ मोदी! 5 साल हर कमज़ोर को सताया नहीं चाहिए ये लड़झड मोदी! तीनों लोग, चारों युगों और समूचे ब्रम्हांड में अगर कोई सबसे झूठा आदमी है तो वह है नरेंद्र मोदी। पूरे दिन बकबक-बड़बड़-गड़बड़। काम के कौनो बात नइखे। राजद नेता राबड़ी देवी ने ट्वीट कर नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा है। राबड़ी देवी का कहना है कि नरेंद्र मोदी ने कमजोर वर्ग के लोगों को अच्छे से बेवकूफ बनाया है। 

नेताओं की बयानबाजी लगातार जारी है। हर दिन किसी न किसी नेता का विपक्ष के नेताओं के लिए शायराना अंदाज में बयानबाजी सामने आ रही है। अनोखे अंदाज में ट्वीटर पर ट्वीट कर एक दूसरे पर निशाना साध रहे हैं। मोदी पर बकबक-गड़बड़ और बड़बड़ बोलने से राबड़ी देवी ने एक और ट्वीट किया था। चलिए आपको बताते हैं कैसे ये नेता एक दूसरे पर बयानबाजी कर रहे हैं।

राबड़ी देवी- झूठ बनाने के कारख़ाने में झूठों को और अधिक झूठ बोलने का प्रशिक्षण देते हुए “झूठों के सरदार” फ़िल्म के निर्देशक, निर्माता और पटकथा लेखक। असत्य, मिथ्या, मृषा, अनृत और झूठ के रंगमंच का ये बहुरंगी धनी ख़ुद ही झूठ का उत्पादक, वितरक, थोक व्यापारी और फूटकर विक्रेता है। वहीं एक और ट्वीट में राबड़ी देवी ने कहा कि- हड़बड़ मोदी, बड़बड़ मोदी हर काम में गड़बड़ मोदी! 5 साल हर कमज़ोर को सताया। नहीं चाहिए ये लड़झड मोदी!

लालू प्रसाद यादव– राबड़ी देवी के हड़बड़ मोदी, बड़बड़ मोदी वाले बयान पर लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट किया कि- ई लोगन के दिन भर कौनो काम नइखे। आपन 5 साल के हिसाब नइखे देत, बाकी दोसरा के हिसाब मांगता! ई दिन भर दोसरा के फँसाबे अवरू गारी देवे में माहिर बा। एकरा के अइसन गडहा में रऊआ सब फेंक दी ताकि दोबारा देखाई ना पड़े।

डिंपल यादव- डिंपल यादव ने जमकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। डिंपल यादव ने ट्वीट कर कहा कि- सराब को ऐब बताने वालों के समर्थक शराब के न’शे में ‘बेटी बचाओ’ का नारा भूल गए और अपनी असलियत दिखा बैठे। मेरठ की जिस छात्रा से बदसलूकी हुई कॉलेज ने भी उसी को सस्पेंड कर दिया। जब संस्थाएं भी अपनी विश्वसनीयता खो दें तो इंसाफ़ की मांग किससे की जाए?

रणदीप सिंह सुरजेवाला- संविधानिक प्रक्रियाओं व परम्पराओं को ताक पर रखना मोदीजी की आदत है। वरिष्ठता व श्रेष्ठता को परे कर, मोदीजी ने नौसेना के वाइस एडमिरल को न्याय का दरवाज़ा खट-खटाने पर मज़बूर कर दिया। पहले सेना प्रमुख की नियुक्ति 2 वरिष्ठ अधकारियों को दरकिनार करके की गई। अब नौसेना प्रमुख की।

संजय सिंह-रोजगार गायब,रोज़गार का जिक्र गायब। सेना के नाम पर वोट लेना,मगर शहीद का दर्जा नही देना। मंदिर बनायेगे,तारिख नही बताएंगे। 370 हटाएंगे,मगर PDP की गोद मे बैठ जाएंगे। चाय वाला कहेंगे,मगर सूट-बूट में रहेंगे।  फिर जुमलो की भरमार,अबकी बार ‘NO’ मोदी सरकार।

मुख्तार अब्बास सिंह- कश्मीर आज़ाद ज़रूर होगा,अब्दुल्ला जी,महबूबा साहिबा ,पर आ’तंकवाद,अ’लगाववाद और आप जैसे अ’लगाववादियों के दोस्तों से #मोदी हैं तो मुमकिन है।