मेरे रंग में रंगनेवाली, परी हो या हो परियों की रानी… एसपी बालासुब्रह्मण्यम लाइफ सपोर्ट पर

New Delhi : एक दौर ऐसा भी आया जब एसपी बालासुब्रह्मण्यम सलमान खान की आवाज बन गये। खासकर मैंने प्यार किया की शानदार सफलता के बाद। लेकिन इससे कुछ साल पहले ही वे उत्तर भारत के घर-घर में ‘एक दूजे के लिये’ फिल्म के जरिये जगह बनाने में कामयाब रहे थे। लता मंगेशकर की मखमली आवाज में पिरोये गानों के बीच बाला की आवाज ने दर्शकों पर नशा कर दिया। वे दक्षिण की फिल्मों में बहुत बड़ा नाम हो चुके थे और इस फिल्म के साथ वे हिंदी पट‍्टी में भी घर-घर सुनाई देने लगे। लेकिन आज एसपी बेचैन हैं। कोरोना की वजह से। और पूरा देश दुआ मांग रहा है।

कोरोना ने हम सबके प्यारे सिंगर एसपी बालासुब्रह्मण्यम को परेशान कर दिया है। कोरोना डिटेक्ट होने पर उन्हें एमजीएम हास्पिटल में भर्ती कराया गया। 13 अगस्त की देर रात उनकी परेशानी बढ़ गई। उन्हें लाइफ सपोर्ट पर रखा गया है। 14 अगस्त की देर शाम इस सूचना को सार्वजनिक किया। म्यूजिक डायरेक्टर एआर रहमान समेत तमाम सेलेब्रिटी ने उनके स्वस्थ होने की प्रार्थना की है। उनके चाहनेवाले अपना प्यार प्रदर्शित करने के लिये ट‍्विटर और अन्य सोशल मीडिया साइटस पर टूट पड़े।
अब जब लोग उनके स्वस्थ होने की प्रार्थनाएं कर रहे हैं तो उनके गाये गीत याद आ रहे हैं। अस्सी और नब्बे दशक के लोग जानते हैं उनके आवाज में क्या दर्द और मर्म था। एक से एक हिट और आवाज ऐसी जिसे कोई दुहरा न सके। 100 डेज फिल्म में सुन बेलिया हो या मैंने प्यार किया का मेरे रंग में रंगनेवाली। इन गानों का आज भी कोई सानी नहीं। हालांकि उन्हें मैंने दिल दीवाना बिन सजना के गाने के लिये फिल्मफेयर अवार्ड मिला। एक दूजे के लिये, फिल्म के लिये उन्हें नेश्सनल अवार्ड मिला। कई अवार्ड मिले।

आखिर उन्होंने तमिल, तेलगु, कन्नड़, हिंदी समेत तमाम भारतीय भाषाओं में 40000 से ज्यादा गाने गाये और वर्ल्ड रिकार्ड भी बनाया। एसपी बालासुब्रह्मण्यम को इंडस्ट्री में प्यार से बालू के नाम से पुकारते हैं। और आज बालू कोरोना की वजह से हॉस्पिटल के बेड पर कराह रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighty two + = eighty three