G-7 समिट में शामिल होने पंहुचे पीएम मोदी, ट्रंप सहित विश्व के कई नेताओं से करेंगे मुलाकात

New Delhi : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी -7 शिखर सम्मेलन के लिए पहुंचे, उनके शेरपा (राजनयिक जो एक शिखर सम्मेलन से पहले प्रारंभिक कार्य करते हैं) सुरेश प्रभु भी साथ में उपस्थित हैं।

आपको बता दें कि फ्रांस में पीएम मोदी अमेरिकी राष्ट्रपित डोनाल्ट ट्रंप से मुलाकात कर सकते हैं। ट्रंप से अपनी मुलाकात के दौरान पीएम जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर अमेरिकी दखल पर बात कर सकते हैं। गौरतलब है कि पीएम मोदी साफ कर चुके हैं जम्मू-कश्मीर का मामला भारत का आंतरिक मामला है जबकि डोनाल्ट ट्रंप इस मुद्दे को लेकर बहुत दिलचस्पी ले रहे हैं।जिससे भारत को एतराज है।दूसरी ओर जी-7 सम्मेलन में इस बार ट्रेड वॉर,यूरोपियन यूनियन से ब्रिटेन का हटना,तमाम व्यापारिक छूटें और अन्य कई मुद्दों पर बात हो सकती है।

गौरतलब है कि जी-7 दुनिया के सात सबसे विकसित देशों का समूह है जिसमें अमेरिका, कनाडा और जापान,फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन और इटली शामिल हैं।भारत इसका स्थाई सदस्य नहीं है बल्कि आमंत्रित सदस्य है।भारत को साल 2003 में जी-7 सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया गया था।जी-7 एक अनौपचारिक संगठन है इसका कहीं भी मुख्यालय नहीं है लेकिन फिर भी इसकी महत्ता बहुत अधिक है क्योंकि इसमें शामिल सात बड़ी आर्थिक ताकतें पूरी दुनियां को प्रभावितच करती हैं।

सोमवार को हर किसी की नजर G-7 पर रहेगी, क्योंकि इस बैठक से इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिलना है। दोनों नेता कई मुद्दों पर द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। इन दिनों जम्मू-कश्मीर के मसले की काफी चर्चाएं हैं, चीन-अमेरिका का ट्रेड वॉर चल रहा है और साथ ही साथ अफगानिस्तान का मसला भी है, ऐसे में ट्रंप-मोदी की ये मुलाकात काफी मायने रखती है।