वैश्विक आर्थिक मंदी के कारण थमी बाजार की रफ़्तार, चिंता की कोई बात नहीं : प्रकाश जावड़ेकर

New Delhi : केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मोदी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने देश के मौजूदा आर्थिक हालतों को अस्थाई बताया है। सरकार अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए महत्वपूर्ण पहल कर रही है। वैश्विक अर्थव्यस्था की मंदी का असर भारत की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ रहा है। भारत इससे उभरने के लिए कई उपाय कर रहा है। जिसको लेकर डरने की जरुरत नहीं है।

इसके अलावा उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2025 तक 5 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के विजन कई कदम उठाये जा रहे हैं। जिसमे सरकार ने निवेश करने और नौकरियां पैदा करने के लिए दो कैबिनेट समितियों का गठन किया है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी इन दो पैनलों – निवेश और विकास पैनल और रोजगार और कौशल विकास पैनल का नेतृत्व करेंगे। सरकार के सौ दिन पूरे होने पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सरकार द्वारा किए गए कामों का एक रिपोर्ट कार्ड ‘जनकनेक्ट: 100 डेज ऑफ़ बोल्ड इनिशिएटिव्स एंड डिसीसिव एक्ट्स’ जारी किया।

इसके अलावा प्रकाश जावड़ेकर ने बताया भाजपा सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के 100 दिनों में कई बड़े फैसले लिये है। जिनमे सबसे बड़ा फैसला जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे अनुच्छेद 370,35A, को ख़त्म करना और जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश के गठन के बारे में लिया था। भाजपा ने अपने सौ दिनों के कार्यकाल में गैरकानूनी गतिविधियाँ (रोकथाम) अधिनियम ,ट्रिपल तलाक ,पॉक्सो जैसे कई बड़े बिल पारित किए है।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया अनुच्छेद 370 हटे हुये 35 दिन बीत चुके हैं। इस दौरान सिर्फ कुछ छोटी घटनाएं हुई हैं। जम्मू कश्मीर के हालात धीरे धीरे समान्य हो रहे हैं। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा अनुच्छेद 370 को रद्द करने के फैसले का एक महत्वपूर्ण पहलू यह है कि पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सहित कई दरवाजे खटखटाए, लेकिन पूरी दुनिया भारत के साथ खड़ी रही।