प्रज्ञा ठाकुर ने संसद में गोडसे के बारे में वही बोला जो BJP- RSS के दिल में बसा है- राहुल

New Delhi: लोकसभा में भोपाल से भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर नाथुराम गोडसे को देश भक्त बताकर एक बार फिर विवादों में आ गई हैं। आज जब सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो सबसे पहले विपक्ष ने यही मुद्दा उठाया और सदन का बहिष्कार किया। उनके इस बयान पर राहुल गांधी ने कहा कि “उन्होंने वही कहा है जो भाजपा और आरएसएस के दिल में बसा हुआ है, ये किसी से छिपा नहीं है। मैं ऐसी महिला पर कार्रवाई करने की मांग कर के अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहता।”

बता दें सदन में शुरू हुए इस मुद्दे को लेकर हंगामें को शांत करने के लिए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि उन्होंने जो भी बयान दिया था उसे सदन की कार्यवाही से हटा दिया गया है, इसलिए इस मसले पर अब ज्यादा बहस नहीं की जानी चाहिए।

वहीं भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष JP नड्डा ने प्रज्ञा ठाकुर के बयान की निंदा की है। उन्होंने कहा है कि पार्टी प्रज्ञा के बयान का समर्थन नहीं करती है। हमने तय किया है कि प्रज्ञा ठाकुर को रक्षा समिति से निकाला जाएगा और वो इस सत्र की किसी संसदीय बैठक का हिस्सा नहीं बन सकेंगी।उनके इस बयान की रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी हमारे आदर्श हैं। गोडसे को देशभक्त मानने की सोच निंदनीय है।

बता दें अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाली भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। इस साल हुए लोकसभा चुनावों में उन्होंने गांधी जी के हत्यारे नाथूराम गोडसे पर विवादित बयान देते हुए कहा था कि गोडसे देश भक्त थे, हैं और रहेंगे। उनके इस बयान के बाद विपक्षी दलों ने भाजपा से उनके टिकट को केंसल करने की मांग की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उन्हें कहा था कि वो उन्हें दिल से कभी माफ नहीं कर पाएंगे। लेकिन वो न केवल चुनाव जीत कर सांसद बनीं बल्कि आज उन्हें रक्षा मंत्रालय की संसदीय समीति में जगह देने के लिए नामित भी कर लिया गया है।